जागरण संवाददाता, जौनपुर: जिले के 11 उपकेंद्र उच्चीकृत कर हेल्थ एंड वेलनेश सेंटर (एचडब्ल्यूसी) में तब्दील होंगे। इसके लिए स्वीकृति मिल चुकी है। वेलनेश सेंटर बनते ही यहां 12 तरह की स्वास्थ्य सुविधाएं मिलने लगेंगी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक सत्यव्रत त्रिपाठी ने बताया कि हेल्थ एंड वेलनेश सेंटर बन जाने पर शासन की ओर से स्टाफ नर्स को छह माह का अनिवार्य प्रशिक्षण दिलाकर उनकी तैनाती की जाती है। उनके माध्यम से ही सभी 12 सेवाएं दैनिक रूप से क्षेत्र के लोगों को मिलती हैं। बताया कि वित्तीय वर्ष 2018-19 में 30 उपकेंद्र उच्चीकृत किए गए, जबकि साल 2019-20 में 117 उपकेंद्र। इस साल 2020-21 में 107 उपकेंद्र उच्चीकृत किए जा रहे हैं । इस तरह से जिले भर में 254 हेल्थ एंड वेलनेश सेंटर हैं वहीं वर्तमान वित्तीय वर्ष 2021-22 में 11 उपकेंद्र उच्चीकृत किए जाएंगे। वेलनेश सेंटर व मिलेंगी सुविधाएं..

-गर्भावस्था व शिशु जन्म देखभाल।

-नवजात व शिशु देखभाल।

- बाल स्वास्थ्य व किशोरावस्था स्वास्थ्य देखभाल।

-परिवार नियोजन, गर्भ निरोधक सेवाएं एवं अन्य प्रजनन स्वास्थ्य देखभाल।

-संचारी रोगों का प्रबंधन ।

- वाह्य रोगियों की साधारण बीमारियों का उपचार।

- गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिग, संदर्भन एवं फालोअप।

-मुख स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं।

-मानसिक स्वास्थ्य व परामर्श।

-नेत्र, नाक और कान संबंधी प्राथमिक सेवाएं।

-वृद्धावस्था से संबंधित सेवाएं।

-आकस्मिक ट्रामा संबंधित सेवाएं।

Edited By: Jagran