जागरण संवाददाता, जौनपुर : वित्तविहीन मान्यता प्राप्त विद्यालयों के शिक्षकों के वेतन भुगतान को लेकर सरकार गंभीर है। शनिवार को शासन के निर्देश के क्रम में जिला विद्यालय निरीक्षक राज कुमार पंडित ने प्रबंधकों व प्रधानाचार्यों को पत्र भेजकर शिक्षकों को वेतन भुगतान चेक या उनके खाते में धनराशि स्थानांतरित करने का आदेश दिया है। चेतावनी दी कि यदि किसी प्रकार की शिकायत मिली या शिथिलता बरती गई तो कार्रवाई की जाएगी।

वित्तविहीन विद्यालयों में शिक्षकों के शोषण की शिकायत लंबे समय से मिल रही है। विद्यालय प्रबंधक कागज पर कुछ और हकीकत में कुछ और भुगतान करता है। इतना ही नहीं अधिकांश शिक्षकों की नियुक्ति भी नियमावली को दर-किनार करके हुई है। ऐसे शिक्षकों को बाहर का रास्ता दिखाना आम बात है। आर्थिक तंगी से जूझ रहे शिक्षकों की समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षक संगठन लंबे समय मांग करते आ रहे हैं। सेवा दे रहे शिक्षकों की नियमावली बनाने की भी मांग शिक्षक नेता कर रहे हैं। प्रदेश सरकार ने शिक्षकों का वेतन भुगतान चेक से या सीधे खाते में धनराशि भेजने का निर्देश दिया है। इसी क्रम में जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी प्रबंधकों को पत्र भेजकर अनुपालन का आदेश दिया है।

Edited By: Jagran