जागरण संवाददाता, नौपेड़वा (जौनपुर): डीजल होम डिलेवरी का शुभारंभ शुक्रवार को हुआ। इंडियन ऑयल के सीईओ विमल दयाल ने शुक्रवार को बक्शा के सोनानन्दन पेट्रोल पम्प से फ्यूल डोर स्टेप के तहत डीजल से भरे डिलेवरी टैंकर को झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रदेश में जनपद से हुई प्रथम शुरुआत के मौके पर दिल्ली से आए सीईओ विमल दयाल ने कहा कि यह प्रयोग डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करते हुए अपने आप में अनूठा साबित होगा। उन्होंने कहा कि डिजिटल इंडिया के तहत ही सुदूर ग्रामीणांचल में डीजल पेट्रोल डोर टू डोर पहुंचाना संभव हो रहा है। उन्होंने कहा कि इंडियन ऑयल ने इसे चैलेंज के रूप में लेते हुए डोर टू डोर डिलेवरी देना स्वीकार किया।

उन्होंने कहा कि इससे पारदर्शिता के साथ डीजल व पेट्रोल की चोरी पर पूरी तरह अंकुश ही नही लगेगा बल्कि शुद्धता की गारंटी होगी। जगह-जगह लगाए गए टावरों तथा स्टेशनरी का लोकेशन रजिस्ट्रर्ड करते ही आरएफईडी सिस्टम के तहत पूरी जानकारी एकत्रित रहेंगी। डिलेवरी टैंकर उक्त स्थान पर सूचना मिलते ही पहुंच तेल की डिलवरी देगी जिसका भुगतान सीधे बैंक खाते से हो जाएगा। डिलेवरी टैंकर रवाना होने से पूर्व मुख्य अतिथि सीईओ द्वारा फीता काटकर पूजन पश्चात गुब्बारे उड़ाए गए। इस दौरान सीओओ तेजेन्दर कालरा, सीटीओ मनोज ¨सह, लखनऊ हेड सर्किल अजय दुग्गल, संयोजक मीना विष्ट, मुख्य महाप्रबंधक इंडियन ऑयल अन्ना दुराई, उ.प्र. मुख्य महाप्रबंधक लखनऊ सौमित्र पांडेय, इंडियन ऑयल महाप्रबंधक अशोक रमनानी, प्रबंधक वाराणसी अभ्युदय शाही मौजूद रहे। पेट्रोलियम एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष व जिला अध्यक्ष प्रदीप ¨सह ने आभार जताया।

Posted By: Jagran