जागरण संवाददाता, जौनपुर : भीम आर्मी भारत एकता मिशन के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को कलेक्ट्रेट में धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन के अधिकारी को सौंपा। इसमें उत्तर प्रदेश में लचर कानून-व्यवस्था के खिलाफ आक्रोश व्यक्त किया गया।

वक्ताओं ने कहा कि यूपी में शांति व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। महिला उत्पीड़न, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अल्पसंख्यक समुदाय के व्यक्तियों पर अत्याचार दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। पुलिस व उत्तर प्रदेश सरकार इन अत्याचारों को रोकने में पूर्णत: विफल हो रही है। हाल ही में उन्नाव कांड ने तो महिला उत्पीड़न की सारी हद तोड़ दी। उन्नाव कांड की पीड़िता के परिजन न्याय की गुहार लगा रहे। उनकी सारी फरियाद नाकाम रही। कोर्ट के आदेश से एफआइआर लिखी गई। अपराध के गुनहगारों द्वारा फैसले का दबाव डाला गया, फैसला न करने पर उसको जला दिया गया, 90 फीसद जलने के फलस्वरूप उसने दम तोड़ दिया। पूरे देश में इस जघन्य अपराध के प्रति रोष में है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा परिजनों को शीघ्र न्याय दिलाया जाय। सहारनपुर में भीम आर्मी के राष्ट्रीय महासचिव कमल सिंह वालिया, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मंजीत सिंह नोटियाल आदि को न्याय की मांग करने में जेल में डाल दिया गया है, इनको तुरंत रिहा किया जाय। इस मौैके पर जिलाध्यक्ष डा.एके गौतम, जिला प्रभारी सुधीर कुमार आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस