जागरण संवाददाता, शाहगंज (जौनपुर) : छताईकला गांव में शनिवार की शाम फसल की सुरक्षा के लिए नंगा तार बांधकर उसमें दौड़ाए गए करेंट की चपेट में आने से आठ वर्षीय विक्रम की मौत हो गई। एक अन्य बालक बुरी तरह से झुलस गया। सीओ का कहना है कि खेत मालिक के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

शाम करीब छह बजे गांव के कुछ बालक पतंग उड़ा रहे थे। इसी बीच कटकर आई पतंग को पकड़ने के लिए बालक उसके पीछे दौड़ने लगे। पतंग पर नजर गड़ाए दो बालक पास के खेत तक पहुंच गए। खेत स्वामी ने घड़रोज व अन्य बेसहारा मवेशियों से मक्के की फसल की सुरक्षा को खेत के चौतरफा नंगा तार बांधकर उसमें करेंट दौड़ा रखा था। तार की चपेट में आने से सात वर्षीय रोहन पुत्र राम भुवाल झुलस गया। उसे स्वजन व ग्रामीण अस्पताल ले गए। वहीं, आठ वर्षीय विक्रम पुत्र साधु यादव देरशाम तक घर वापस नहीं लौटा तो चितित स्वजन उसकी तलाश करने लगे।

खेत पर पहुंचे तो बालक का पता नहीं चला। खोजबीन के दौरान रात करीब दो बजे तार से घेरे गए खेत से कुछ दूरी पर धान के खेत में विक्रम का शव मिला। करेंट से उसका शरीर बुरी तरह से झुलसा हुआ था। आशंका जताई जा रही है कि शाम को करेंट से मौत के बाद घटना को छिपाने के लिए किसी ने उसका शव पास के खेत में ले जाकर रख दिया था। पुलिस ने पहुंचकर शव कब्जे में ले लिया। सीओ अंकित कुमार ने कहा कि खेत स्वामी के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। पहले भी हो चुकी है युवक की मौत

जासं, शाहगंज : क्षेत्र के पट्टी चकेसर गांव में गत 30 जून को एक खेत के चारों तरफ लोहे की तार लगाकर घड़रोज सहित अन्य पशुओं को रोकने के लिए उसमें करेंट प्रवाहित किया गया था। उक्त तार की चपेट में आने से गांव निवासी रामविलास चौहान (35) की मौत हो गई थी। घटना उस समय हुई जब युवक घर से अपने बाग की रखवाली के लिए जा रहा था।

Edited By: Jagran