जागरण संवाददाता, जौनपुर: कोरोना से जंग के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान के क्रम में शुक्रवार को 2552 कोरोना योद्धाओं को सुरक्षा कवच रूपी कोविशील्ड के टीके लगे। कुल 22 स्वास्थ्य केंद्रों पर 3005 स्वास्थ्य कर्मियों का टीका लगना था। ऐसे में लक्ष्य के सापेक्ष 84.9 फीसद यानी 2552 का ही टीकाकरण हुआ। इसके लिए 26 टीमें गठित की गई थीं। जनपद में अब तक 8138 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जा चुका है।

शासन के निर्देश पर सूची के अनुसार सभी केंद्रों पर वैक्सीन उपलब्ध करा दी गई थी। निर्धारित सूची के अनुसार सुबह सात बजे से ही स्वास्थ्य कर्मियों के आने का क्रम शुरू हो गया था। गाइड लाइन के क्रम में लाभार्थियों के नाम का पहचान पत्र और सूची से मिलान कर कोविन एप के माध्यम से किया गया। अगर किसी सूची में नाम मैच नहीं कर रहा था तो सहयोगी कर्मी ईएफआइ होने पर कोविन एप पर रिपोर्ट कर रहे थे। सीएमओ डाक्टर राकेश कुमार सुबह नौ बजे लीलावती महिला चिकित्सालय पहुंच कर टीका लगवाया। उन्होंने कहा कि सबको टीका लगवाना चाहिए। यह टीका बहुत ही सुरक्षित है। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। आइएमए अध्यक्ष डाक्टर एनके सिंह, एसीएमओ डाक्टर राजीव यादव, जिला चिकित्सालय के ईएनटी सर्जन डाक्टर आरएस कुशवाहा आदि ने भी टीके लगवाए। टीकाकरण के यह थे केंद्र

जिला महिला चिकित्सालय, जिला पुरुष चिकित्सालय, लीलावती महिला चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुर, बरसठी, मुफ्तीगंज, रेहटी जलालपुर, सिरकोनी, डोभी, केराकत, धर्मापुर, करंजाकला, सोंधी-मिहरांवा, खुटहन, बक्शा, बदलापुर, सिकरारा, सुजानगंज, महराजगंज, मछलीशहर, मुंगराबादशाहपुर, मड़ियाहूं को केंद्र बनाया गया था। टीकाकरण के लिए यह है आवश्यक

कोविड-19 टीकाकरण के लिए जा रहे हैं तो अपना एक पहचान पत्र ले जाना न भूलें। इसमें आधार कार्ड, ड्राइविग लाइसेंस, वोटर आइडी एवं पैन कार्ड, पासपोर्ट, जाब कार्ड, पेंशन दस्तावेज, मनरेगा कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, सांसदों, विधायकों, एमएलसी को जारी आधिकारिक प्रमाण पत्र, बैंक, पोस्ट आफिस की पासबुक, केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा आइडी कार्ड आदि में कोई एक हो सकता है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप