जौनपुर : उत्तराखंड के राज्यपाल डा.अजीज कुरैशी ने कहा कि आजादी के बाद भावना व तात्कालिक नारों में बहकर हिंदुस्तान से पाकिस्तान गए मुसलमान 67 सालों बाद भी वहां मुहाजिर बने हुए हैं। जबकि भारत में सभी धर्मो व उनके अनुयायियों को बराबर का हक हासिल है। वे शनिवार की शाम स्थानीय डाक बंगले में आयोजित अपने सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि सिराजे हिंद जौनपुर की गंगा जमुनी तहजीब देश को हमेशा से दिशा देने वाली रही है। यहां के शायर वामिक जौनपुरी समेत अन्य तमाम हस्तियों ने समय-समय पर यहां की बुलंदी का परचम पूरे देश में फहराया है। इतिहास के पन्नों को पलटते हुए उन्होंने कहा कि आजादी के बाद भारत को गैर मजहबी मुल्क के रूप में प्रतिस्थापित करने में महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, हेमवती नंदन बहुगुणा, अबुल कलाम आजाद सरीखे शीर्ष नेताओं की अहम भूमिका रही है। श्री कुरैशी ने कहा कि हमें कोई भी निर्णय जल्दबाजी में नहीं लेना चाहिए, नहीं तो आजीवन उसका खामियाजा भुगतना पड़ता है।

विशिष्ट अतिथि काग्रेस की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी ने भी जौनपुर की सरजमीं की मुक्त कंठ से सराहना करते हुए कहा कि यहां के लोगों का देश प्रेम व हर क्षेत्र में बुलंदी की अलग पहचान रही है। मुझे उम्मीद व विश्वास है कि आने वाले समय में भी यहां के लोग अपने इस सामाजिक सद्भाव की पहचान को कायम रखते हुए देश में एक संदेश देते रहेंगे। अतिथियों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम संयोजक नगर विधायक नदीम जावेद ने विश्वास दिलाते हुए कहा कि यहां के लोगों में रचा बसा सामाजिक सद्भाव देश के लिए नजीर बना रहेगा। उन्होंने अल्प समय में यहां आकर अपना समय देने के लिए राज्यपाल श्री कुरैशी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। श्री जावेद ने अपने संबोधन में जौनपुर के इतिहास का संक्षिप्त उल्लेख भी किया। इसके पूर्व उन्होंने स्मृति चिह्न देकर राज्यपाल को सम्मानित किया। अध्यक्षता पूर्व सांसद कमला प्रसाद सिंह व संचालन कांग्रेस जिलाध्यक्ष लालजीत चौहान ने किया। इस मौके पर सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता वरिष्ठ कांग्रेसी जेड के फैजान, पूर्व बार अध्यक्ष यतींद्र नाथ त्रिपाठी, पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष एसपी सिंह, शेर बहादुर सिंह, इंद्रभुवन सिंह, विजय प्रताप सिंह, व्यापार मंडल अध्यक्ष इंद्रभान सिंह इंदू, जौनपुर पत्रकार संघ अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह, डा.लालजी त्रिपाठी, वशिष्ठ नारायण सिंह, अनिल अस्थाना सहित तमाम शिक्षक, चिकित्सक, अधिवक्ता, सामाजिक संगठनों के लोग मौजूद रहे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर