संवाद सहयोगी, कालपी : जोल्हूपुर मोड़ रेलवे क्रासिग पर दो करोड़ की लागत से अंडरपास का निर्माण कराया जा रहा है। निर्माण में खामियां होने की वजह से अंडर पास में 5 फीट तक पानी भरा है। जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं की गई है । जिससे अंडरपास लोगों के लिए सार्थक साबित नहीं हो रहा है।

कदौरा हमीरपुर रोड पर जोल्हूपुर गांव की रेलवे क्रासिग पर अंडरपास का निर्माण कराया जा रहा है। लेकिन अंडर पास के निर्माण में जमकर लापरवाही बरती जा रही है। अंडर पास में 5 फीट तक जलभराव है जिससे यहां से आवागमन बंद है। निर्माण ईकाई ने अंडर पास में जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं की है। अंडर पास निर्माण में मानकों का ध्यान भी निर्माण ईकाई ने नहीं रखा है जिससे अंडर पास लोगों के लिए अनुपयोगी साबित हो रहा है। अभी तक अंडर पास में टीनशेड भी नहीं डलवाया गया है जिससे बारिश में सड़क व अगल बगल का सारा पानी अंडर पास में ही भर जाता है और आवागमन अंडर पास से बिल्कुल बंद हो जाता है। अंडर पास में जलभराव होने से जोल्हूपुर, रामपुर, काशीखेरा, बरदौली, लुहरगांव, निवाड़ी, धमना, जयरामपुर, लमसर, बरखेरा, तिरही, बरही, गुलौली, बबीना, कदौरा के अलावा हमीरपुर जनपद के लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ती है। जलभराव के चलते जब वाहन अंडर पास से नहीं निकल पाते हैं तो रेलवे क्रासिग पर जाम की स्थिति बन जाती है जिसमें एंबूलेंस व अन्य वाहन घंटों फंसे रहते हैं। रेलवे क्रासिग पर ओवर ब्रिज भी है निर्माणाधीन

जोल्हूपुर रेलवे क्रासिग पर यातायात को सुगम व सुचारू रूप से चलवाने के लिए ओवरब्रिज निर्माण का कार्य भी प्रगति पर है। सेतु निर्माण निगम ने लगभग 3342.66 लाख रुपये की लागत से ओवरब्रिज निर्माण कराया जा रहा है। अभी 45 प्रतिशत कार्य पूरा हुआ है। यहां पर भी कार्य धीमी गति से चल रहा है जिससे लोगों को आवागमन में भारी परेशानी हो रही है। लोगों की बात :

जोल्हूपुर गांव की रेलवे क्रासिग पर बनाए गए अंडर पास में खामियां ही खामियां हैं। बरसात का पूरा पानी अंडर पास में भर जाता है जिससे आवागमन ठप्प हो जाता है। लोगों को सुविधा देने के बजाय अंडर पास मुसीबत बना हुआ है। जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है।

भूपेंद्र सिंह जोल्हूपुर क्रासिग पर बने अंडर पास में जल निकासी की कोई व्यवस्था निर्माण ईकाई ने नहीं की है जिससे अंडर पास से आवागमन ठप्प है। अंडर पास निर्माण में मानकों को भी ध्यान में नही रखा गया है।

जयकरन सविता अंडर पास निर्माण में नियमों को ताक पर रखकर काम कराया गया है। तभी तो अंडर पास मे जलभराव इस कदर होता है जैसे यह कोई झील हो जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है और न ही अभी टीन शेड डलवाया गया है। दो दर्जन गांवों के लोगों को परेशान होना पड़ता है।

विवेक सिंह जोल्हूपुर रेलवे क्रासिग पर बने अंडर पास ने लोगों की मुसीबत कम होने के बजाय मुसीबत और बढ़ा दी है। मानकों को ताक पर रखकर निर्माण में रस्म अदायगी कर दी गई है जिससे जलभराव जैसी बड़ी समस्या से लोग परेशान हो रहे हैं। यदि समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो भारी समस्या खड़ी हो जाएगी।

मुन्ना सिंह

Edited By: Jagran