संवाद सूत्र, कदौरा : ब्लाक क्षेत्र की ग्राम पंचायत कुसमरा बावनी में बुधवार को जल संरक्षण का अभियान चलाया गया। आम लोगों को कठपुतली नाच के माध्यम से जागरूक किया गया। उपजिलाधिकारी कौशल कुमार ने कहा कि जल संरक्षण के लिए हर व्यक्ति को सजग रहना होगा। आज पानी का मोल समझने की जरूरत है।

यह सभी जानते हैं कि जल ही जीवन है। इसे आने वाली पीढ़ी के लिए संरक्षित करना जरूरी है। जल जीवन मिशन के तहत कुसमरा गांव में एक कार्यक्रम किया गया। जिसमें कठपुतली के माध्यम से ग्रामीणों को कैसे जल संरक्षित करना चाहिए और इसके क्या लाभ हैं इसके बारे में जानकारी दी गई। कार्यक्रम में बोलते हुए उपजिलाधिकारी कौशल कुमार ने कहा कि आने वाली पीढ़ी के लिए यह बहुत जरूरी है कि हम वर्षा जल, हैंडपंप, तालाब, नदी, और घरों में पाइप लाइन के द्वारा आने वाले जल को बर्बाद एवं दूषित न होने दें। दूषित जल के उपयोग से बीमारियों का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। जिससे कई प्रकार के संक्रामक रोग होने की संभावना रहती है। कई बार हम घरों में जल की बर्बादी करते हैं जो कि नहीं होनी चाहिए। सरकार अपने माध्यम से जल संरक्षण को बढ़ावा दे रही है। इसमें ग्रामीणों की भी भूमिका सुनिश्चित होनी चाहिए। कार्यक्रम में लोगों को जागरूक कर उन्हें जल संरक्षण के उपाय और तरीकों की जानकारी दी गई। इस दौरान कई ग्रामीण मौजूद रहे। हर गांव में वाटर रीचार्जिंग को तैयार होंगे 10-10 सोकपिट संवाद सहयोगी, कोंच : भूगर्भ जलस्तर बढ़ाने के लिए प्रत्येक गांव में 10 सोकपिटों का निर्माण करवाया जाएगा। यह कार्य ग्राम पंचायत निधि से कराया जाएगा। यह बात बुधवार को बीडीओ विपिन कुमार सिंह ने कही।

विकास खंड में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि प्रत्येक गांव में 10-10 व्यक्तिगत लाभार्थी तलाशे जाएं। उनके यहां सोकपिट एवं रिचार्ज पिट का निर्माण करने की कार्ययोजना तैयार करें। मनरेगा योजना से बनवाए जाने वाले सोकपिटों का उद्देश्य भूगर्भ जलस्तर को बढ़ाना एवं जलभराव की समस्या को समाप्त करना है। उन्होंने कर्मचारियों से गांव की गोशालाओं को व्यवस्थित रखने को कहा। साथ ही चेतावनी भी दी कि मवेशी गोशाला के बाहर न छोड़ें। उन्होंने खेल मैदान, विद्यालयों की बाउंड्रीवाल, आंगनबाड़ी, पीएम आवास एवं मुख्यमंत्री आवास व मनरेगा की प्रगति समीक्षा की। उन्होंने मनरेगा के रजिस्टर भी ग्राम पंचायत के सचिवों को दिया। कहा कि वह गांव के रोजगार सेवक से इन रजिस्टरों पर समस्त सूचनाएं सामग्री एवं ग्राम पंचायत की कार्रवाई आदि अंकित करवाएं। जिससे किसी भी जांच के समय सूचना आसानी से मिल सके। एसडीओ नरेश दुबे, मनोज चतुर्वेदी, आकांक्षा, पूनम, नरेंद्र पटेल, सुमित यादव, वसीम खान, शिल्पी राजपूत, अनुज गुप्ता, अभिषेक यादव सहित कई लोग मौजूद रहे।

Edited By: Jagran