अनहोनी की शंका पर महिला हेल्पलाइन नंबरों का करें प्रयोग

जागरण संवाददाता, उरई : महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए महिला कल्याण विभाग के तत्वावधान में मिशन शक्ति अभियान फोर के तहत उरई नगर के वार्ड संख्या 27 में आंगनबाड़ी केंद्र पर स्वावलंबन कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें महिला कल्याण अधिकारी अल्कमा अख्तर ने प्रदेश सरकार की योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि महिलाओं के उत्थान के लिए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, पति के मृत्यु के उपरांत निराश्रित महिला पेंशन, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ आदि योजनाएं चलाई जा रही हैं। महिला को अपनी सुरक्षा और अधिकारों के प्रति जिम्मेदार रहते हुए कुछ चीजों की जानकारी होना बहुत ही जरूरी है। शासन ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई हेल्पलाइन नंबरों को जारी कर रखा है। जब भी किसी महिला को किसी अनहोनी की आशंका हो, तो वह तुरंत ही 1090 वूमेन पावर लाइन, 181 महिला हेल्पलाइन, 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 112 पुलिस आपातकालीन सेवा, 1098 चाइल्ड लाइन, 102 एम्बुलेंस सेवाएं एवं 108 एंबुलेंस सेवाएं से मदद ले सकती हैं। कहा कि पहले से अब महिलाओं में काफी बदलाव आ रहा है। उन्होंने महिलाओं को दहेज प्रथा, घरेलू हिंसा, लैंगिक उत्पीड़न, कन्या भ्रूण हत्या के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कहा कि दहेज एक सामाजिक समस्या है, जिसका उन्मूलन तभी हो सकता है, जब हम इसके खिलाफ सख्त कदम उठाएंगे। उन्होंने बताया कि कन्या सुमंगला योजना प्रदेश सरकार में चल रही है। इसका उद्देश्य कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त करना है। इस अवसर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रजनी देवी, रेशमा, रानी देवी व सहायिका एवं महिलाएं उपस्थित रहीं।

Edited By: Jagran