संवाद सहयोगी, कालपी/एट : जिले में संदिग्ध हालात में दो महिलाएं आग से झुलस गईं। परिजन आनन-फानन में अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां हालत गंभीर देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। परिजनों का कहना है कि गृहकलह से परेशान होकर खुद आग लगा जान देने की कोशिश की गई है। कालपी के मिर्जामंडी में हुई घटना में महिला को बचाने में उसका पति भी झुलस गया।

कालपी कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला मिर्जा मंडी निवासी रोशन की पत्नी समीना (30) ने सुबह करीब 11 बजे के आसपास अपने घर में मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली। आग की लपटों में घिरने के बाद समीना बचाने की गुहार लगाते हुए चीखने लगी। उसकी चीख पुकार सुनकर घर में मौजूद उसका पति रोशन बचाने के लिए दौड़ा और आग बुझाने में खुद भी झुलस गया। तब तक आसपास के लोग जुट गए और आग बुझा कर दोनों को लेकर सीएचसी में भर्ती कराया। जहां पर प्राथमिक उपचार के बाद समीना को जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया। फिलहाल महिला के द्वारा आग लगाने का कारण पता नहीं चल सका। चिकित्सकों के मुताबिक समीना लगभग पचास फीसद झुलस गई है।

इधर, एट थाना क्षेत्र के ग्राम सोमई में मंगलवार की रात एक महिला आग से बुरी तरह झुलस गई। गांव निवासी विजय परिहार की पत्नी बबली (20) ने मिट्टी का तेल छिड़क आग लगा जान देने का प्रयास किया।उसे आग की लपटों में घिरा देख विजय ने किसी तरह आग बुझाई और देर रात अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। उसका दो वर्षा का लड़का प्रशांत है। विजय के मुताबिक घरेलू कलह के चलते बबली ने आत्मघाती कदम उठाया है।

Posted By: Jagran