संवाद सहयोगी, जालौन : हरदोई राजा में ग्राम पंचायत सचिव द्वारा बिना प्रधान की जानकारी के फर्जी भुगतान करने एवं लगातार पंचायत कार्यालय से अनुपस्थित होने की शिकायत प्रधान ने सीडीओ से की है।

विकास खंड के ग्राम पंचायत हरदोई राजा में ग्राम पंचायत सचिव कुलदीप वर्मा की मनमानी, लापरवाही और भ्रष्टाचार से न सिर्फ ग्राम प्रधान बल्कि ग्रामीण भी परेशान हैं। कुलदीप वर्मा को न तो सरकारी आदेशों की चिता है और न ही सरकार की छवि की। ग्राम प्रधान शिखा अविनाश सिंह सेंगर का आरोप है कि ग्राम पंचायत सचिव पंचायत के गठन के बाद से ही पंचायत कार्यालय से अनुपस्थित हैं। गांव के लोगों को कार्यों के लिए परेशान होना पड़ता है। इससे जहां प्रधान के रूप में उनकी छवि खराब हो रही है वहीं ग्रामीणों में भी असंतोष बढ़ रहा है। ग्राम पंचायत के विकास कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। ग्राम प्रधान ने आरोप लगाया कि गांव में जो भी विकास कार्य कराए जा रहे थे वह पूरे नहीं हो पा रहे हैं। ग्राम पंचायत सचिव कुलदीप वर्मा ने मनमानी करते हुए बिना प्रधान की जानकारी और बिना हस्ताक्षर कराए ही आंगनबाड़ी निर्माण में 60 हजार 900 रुपये का फर्जी भुगतान कर दिया। इसके अलावा हैंडपंप रिपेयरिग के नाम पर 86 हजार रुपये का फर्जी भुगतान किया गया। जो कि सरकारी धन का दुरूपयोग है। ग्राम प्रधान ने इसकी शिकायत सीडीओ से की है। उन्होंने मांग की है कि ग्राम पंचायत सचिव कुलदीप वर्मा द्वारा किए गए फर्जी भुगतान की जांच कराकर उनसे सरकारी धन की वसूली की जाए। साथ ही उन्होंने नियमित तौर पर ग्राम पंचायत में उपस्थित रहकर ग्राम पंचायत के कार्यों को निपटाने के निर्देश दिए जाएं। सीडीओ ने मामले की जांच डीपीआरओ को सौंपी है।

Edited By: Jagran