संवाद सहयोगी, जालौन : कृषि उत्पादन मंडी में 2 माह 22 दिन तक 12 सरकारी गेहूं खरीद केंद्रों का संचालन हुआ। इन खरीद केंद्रों पर 2 लाख 6 हजार 386 क्विंटल गेहूं की खरीद की गई। यह खरीद अभी तक की सर्वाधिक खरीद है।

नवीन गल्ला मंडी परिसर में 1 अप्रैल से 15 जून और फिर 22 जून तक (खरीद के लिए बढ़ाई गई तिथि) एमएसपी की दर पर गेहूं की खरीद की गई। 2 माह 22 दिन तक सरकारी गेंहू क्रय केंद्रों पर किसानों का गेंहू खरीदा गया। इस बार खरीद का समय बढ़ने से गेहूं बेचने के लिए किसानों के बीच अफरा तफरी नहीं रही। हालांकि कभी बारदाना न होने और कभी उठान न होने के चलते किसानों को थोड़ा बहुत परेशान होना पड़ा। इसके लिए उन्हें गेहूं बेचने के लिए हफ्ता भर तक इंतजार करना पड़ा। अंतत: किसानों का गेंहू खरीद लिया गया। थोड़ी परेशानी बीच-बीच में गेंहू क्रय केंद्र बंद होने से भी हुई। पहले जहां मंडी परिसर में 11 गेंहू क्रय केंद्र संचालित थे। इसके बाद सरकार ने निर्धारित मात्रा में खरीद तय की गई तो 4 केंद्र बंद हो गए और 7 केंद्रों पर ही खरीद की गई। पूर्व में घोषित अंतिम तिथि को फिर से 3 केंद्र बंद हो गए। जिसके बाद प्राइवेट केंद्रों को छोड़कर सिर्फ 4 सरकारी गेहूं खरीद केंद्रों पर खरीददारी की गई। मंडी सचिव सर्वेश शुक्ला ने बताया कि सभी गेहूं क्रय केंद्रों पर कुल मिलाकर 2 लाख 6 हजार 386 क्विटल गेहूं की खरीद हुई है, जो अब तक सर्वाधिक है।

Edited By: Jagran