जागरण संवाददाता, उरई : नगर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मड़ोरा में एक किसान ने फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। बताया जाता है कि खेती में लगातार नुकसान की वजह से वह परेशान था। इस साल उसने मसूर की फसल बोई थी, लेकिन उसमें भी अपेक्षित उपज नहीं मिली। जिसकी वजह से वह हताश हो गया था। अपने घर में गुरुवार सुबह उसने फांसी लगा ली। घर वालों ने फांसी पर झूलते उसके शव को देखा तो उनके होश उड़ गए।

ग्राम मड़ोरा निवासी रामप्रकाश (50) पुत्र नेक ¨सह ने गुरुवार सुबह अपने घर में फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। इस घटना से घर में कोहराम मच गया। बुरी तरह से रोते बिलखते परिवार वालों की आवाज सुन मोहल्ले के लोग वहां पहुंच गए। बाद में पुलिस को घटना का सूचना दी गई। पुलिस के पहुंचने के बाद फांसी पर झूल रहे शव को नीचे उतारा गया। किस वजह से रामप्रकाश ने खुदकशी की स्पष्ट तौर पर यह साफ नहीं हुआ है। कहा जा रहा है लगातार खेती में नुकसान होने की वजह से वह परेशान थे। आमदनी का कोई रास्ता नजर नहीं आने के परिवार चलाने की ¨चता उसे भीतर ही भीतर खाए जा रही थी। आखिरकार हताश होकर उसने खुदकशी कर ली। भारतीय किसान यूनियन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बलराम लंबरदार भी मौके पहुंच गए। उन्होंने कहा कि इस बार खेती में नुकसान की वजह से किसान बेहद परेशान हैं। रामप्रकाश ने इस बार मसूर की फसल की थी परंतु वह भी बर्बाद हो गई। उन्होंने प्रशासन से किसान के परिवार को मुआवजा दिलाने की मांग की। प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस ने मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र दुबे का कहना है कि जांच की जा रही है कि किस वजह से किसान ने खुदकशी की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस