संवाद सहयोगी, जालौन : त्योहार की खरीदारी कर रहे हैं तो थोड़ी सावधानी बरतें। कहीं ऐसा न हो कि आपकी रसोई तक मिलावटी माल पहुंच जाए, जो आपकी सेहत तक खराब कर सकता है। पर्व को लेकर सक्रिय हुए धंधेबाजों ने अपना जाल फैला लिया है। तेल, मसाला, खोवा से लेकर कई मिलावटी चीजों से बाजार भरा पड़ा है। दिलचस्प यह कि अभी तक तहसील क्षेत्र में खाद्य सुरक्षा विभाग के कदम तेजी से आगे नहीं बढ़े हैं।

पर्व को देखते हुए बाजार में मिलावटी खाद्य पदार्थों की भरमार है। दूध, खोवा, पनीर, घी, सरसों का तेल, हल्दी, धनिया, मिर्च पाउडर, चाय, मिठाइयां और बेसन समेत तमाम खाद्य पदार्थों में मिलावट का दौर जारी है। मुनाफाखोरी के चक्कर में कई दुकानों में ऐसे सामान की आमद हो चुकी है। नाम न छापने की शर्त पर एक दुकानदार ने बताया कि नगर में पाम ऑयल से बना हुआ तेल सरसों के तेल के नाम पर बेचा जा रहा है। बाजार में बिक रहा टमाटर सॉस रासायनिक केमिकल व कद्दू से बनाया गया है। जिसका प्रयोग धड़ल्ले से पेटीज विक्रेता कर रहे हैं। कांच की शीशियों में टमाटर सॉस के नाम पर मीठा जहर 45 रुपये प्रति बोतल बिक रहा है। खोवा से बनी मिठाइयों व बेसन की मिठाइयों में भी जमकर मिलावट की गई है। मुनाफाखोर अधिक पैसा कमाने के चक्कर में लोगों के स्वास्थ्य के साथ खुलेआम खिलवाड़ कर रहे हैं। इसके बाद भी खाद्य सुरक्षा विभाग मूक दर्शक बना हुआ है तथा अभी तक अभियान नहीं चलाया गया है।

वहीं इस संबंध में एसडीएम भैरपाल सिंह ने कहा कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी को निर्देश दिए गए थे कि पर्व को देखते हुए जांच अभियान चलाएं। अगर अभियान नहीं चलाया गया है तो उसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस