संवाद सूत्र, महेबा (उरई) : घने कोहरा हादसे का सबब बन रहा है। शनिवार सुबह कोहरे में मंगरौल मार्ग पर एक तेज रफ्तार वाहन ने सामने से आ रही बाइक में टक्कर मार दी। बाइक चला रहे युवक की मौत हो गई। उसका दोस्त गंभीर घायल है।

हीरापुर गांव निवासी 36 वर्षीय चंद्रशेखर और 30 वर्षीय सूलम उर्फ रामकुमार बाइक से कालपी की ओर जा रहे थे। बाइक सूलम चला रहा था। घने कोहरे के बीच सुबह करीब नौ बजे कालपी की तरफ से आ रहे तेज रफ्तार वाहन ने सामने से बाइक में टक्कर मार दी। सूलम और चंद्रशेखर उछलकर सड़क पर गिर पड़े। लहूलुहान पड़े दोनों युवक काफी देर तक सूनी सड़क पर तड़पते रहे। टक्कर इतनी तेज थी कि बाइक झाड़ियों में जा गिरी। इस दौरान बाइक से कालपी जा रहे प्रधान पुत्र हरिबाबू फौजी और अनिल वाजपेयी ने पुलिस को सूचना दी। कोतवाल मानिकचंद्र ने एंबुलेंस से दोनों को सीएचसी भेजा, जहां चिकित्सक ने सूलम को मृत घोषित कर दिया। चंद्रशेखर को गंभीर हालत में जिला अस्पताल रेफर किया गया है। चंद्रशेखर के पिता जमुना दास व सूलम के पिता बुद्धलाल पहुंचे तो बदहवास हो गए। चिकित्सक ने बताया कि ज्यादा खून बह जाने की वजह से सूलम की मौत हुई है। समय पर इलाज मिलता तो जान बचाई जा सकती थी। कोतवाल ने बताया कि दोनों युवक हेलमेट नहीं लगाए थे, इस वजह से सिर में गहरी चोट लगी।

----

इनसेट

आठ में चार बेटों को खो चुका पिता

जवान बेटे की मौत ने बुद्धलाल को बुरी तरह तोड़कर रख दिया। वह बस एक ही बात कहते रहे कि भगवान मुझसे कौन से पाप हुए कि आठ में चार बेटों की मौत देखनी पड़ी। ग्रामीणों के मुताबिक इसके पहले सूलम के भाई सुरेश की मौत भी सड़क हादसे में हो चुकी है। अन्य भाई अशोक का बीमारी और लल्लू का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। बुद्धलाल की पत्नी की बीमारी से मौत हो चुकी है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस