जागरण संवाददाता, उरई: माधौगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम कैलोर के मंदिर से चोरी गई अष्टधातु की मूर्ति पुलिस ने बरामद कर ली हैं। चोरी के आरोप में तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि मुख्य आरोपित अभी पकड़ से दूर है। उसकी तलाश की जा रही है।

रविवार की रात माधौगढ़ कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कैलोर निवासी राजबहादुर सिंह के घर उसके पुत्र राजा सिंह का दोस्त नीरज गुर्जर आया था। नीरज ने राजबहादुर समेत घर में मौजूद सभी सदस्यों को जूस में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया था।। सभी सदस्य जब बेहोश हो गए नीरज अपने साथियों अभी वीरू प्रजापति पत्र शिवभजन निवासी समुहि भटपुरवा थाना सजेती जिला कानपुर, नरेंद्र कुमार पुत्र राम प्रसाद निवासी ग्राम रिठौरी थाना कुरारा जिला हमीरपुर और आनंद कुमार पुत्र गया प्रसाद निवासी ग्राम रेठारी पाटनपुर थाना बिवार जिला हमीरपुर की मदद से राजबहादुर के घर के मंदिर से अष्टधातु की प्राचीन मूर्तियां चुरा कर ले गया। मामले को लेकर राजबहादुर सिंह ने नीरज व उसके साथियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस बुधवार को तीन आरोपितों को गिरफ्तार करने में सफल हो गई। पुलिस अधीक्षक रवि कुमार ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि मामले में एसओजी व सर्विलांस टीम को लगाया था। माधौगढ़ थाना पुलिस ने एसओजी व सर्विलांस की मदद से बंगरा के समीप से वीरू प्रजापति, नरेंद्र कुमार और आनंद कुमार को गिरफ्तार कर लिया आरोपितों की निशानदेही पर चोरी गईं सभी मूर्तियां मोटरसाइकिल बरामद की गईं हैं। मुख्य आरोपित नीरज अभी फरार है। उसे जल्द गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा।

नीरज ने जेल में बनाई थी दोस्ती

राजबहादुर का पुत्र राजा सिंह एक आपराधिक मामले में जेल में बंद था। जेल में नीरज भी बंद था। वहां पर दोनों की दोस्ती हुई। इसके बाद नीरज का राजबहादुर के घर पर आना जाना हो गया। राजबहादुर के सोच भी नहीं सकता था कि जो नीरज इस तरह धोखा कर सकता है।

Edited By: Jagran