जागरण संवाददाता, उरई : लॉकडाउन के हटाए जाने के बाद से लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है। एक-एक दिन में 40 से 50 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। कोविड में बनाए गए दो एल-1 अस्पतालों में बेड कम पड़ने की संभावना बढ़ते ही एक और एल-1 श्रेणी के अस्पताल को तैयार कर दिया गया। साथ ही मेडिकल टीम का भी गठन किया गया।

लॉकडाउन के हटते ही बाजार और सार्वजनिक स्थानों पर नियमों की अनदेखी भारी पड़ रही है। जिले में मेडिकल कॉलेज एल-2, जमुना पैलेस व मधुवन विला एल-1 अस्पताल में मरीजों का इलाज किया जा रहा है। दोनों जगहों पर कुल 235 बेड हैं।

मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. द्विजेंद्र नाथ का कहना है कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए बनाए गए एल-2 अस्पताल में 150 बेड की व्यवस्था है। जिसमे से 58 गंभीर बीमारियों वाले मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

------------

जायसवाल क्लासिक को बनाया जा रहा एल-1 प्लस अस्पताल

सीएमओ डॉ. अल्पना बरतारिया ने बताया कि मधुवन विला क्लासिक को एल 1 अस्पताल में 100 बेड की व्यवस्था है। मरीजों की संख्या अधिक होने की वजह से एक और एल-1 अस्पताल बनाया गया। जिसके लिए एक मेडिकल टीम का गठन किया गया। ट्रेनिग भी दी जा रही है। मरीजों की बढ़ती संख्या देख पहले से अधिक व्यवस्थाएं भी की जा रही है

बोले एल-1 अस्पतालों के टीम लीडर

जमुना पैलेस एल-1 अस्पताल के टीम लीडर केडी गुप्ता का कहना है कि 85 शैय्या बेड में 45 कोरोना पॉजिटिव मरीज भर्ती हैं, वहीं दूसरी ओर मधुवन विला के इंचार्ज ने बताया कि 70 बेड पर 57 मरीजों का उपचार किया जा रहा है।

बोले एल-1 अस्पतालों के इंचार्ज

एल-1 अस्पतालों के इंचार्ज संजीव प्रभाकर ने बताया कि विगत कई दिनों से मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। 100 बेड की क्षमता के विस्तार में व्यवस्थाएं दुरुस्त की जा रही है, और यह भी बताया कि 50 बेड हिदुस्तान लीवर ने दान किया। साथ ही दस बेड परमार्थ समाज सेवी संस्था व दस बेड भारत विकास परिषद द्वारा प्राप्त हुई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस