उरई, जागरण संवादाता : डीआरएम एसके अग्रवाल ने शुक्रवार को उरई रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। सुरक्षा से लेकर सफाई व्यवस्था तक तमाम खामियां इस दौरान उजागर हुईं, जिसको लेकर उन्होंने संबंधित अधिकारियों की फटकार लगायी। उन्होंने कहा कि जून 2018 तक कानपुर झांसी के बीच रेलवे लाइन के दोहरीकरण का काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद स्टेशन का उच्चीकरण का काम पूरा कर लिया जाएगा।

डीआरएम श्री अग्रवाल ने उरई रेलवे स्टेशन के निरीक्षण के दौरान सबसे पहले प्लेट फार्म की सफाई व्यवस्था देखी। उनके यहां पहुंचने से पहले स्टेशन पर जोरशोर से सफाई करायी गई थी, लेकिन इसके बावजूद गड़बड़ी उजागर हो गई। प्रतीक्षालय में यात्रियों के बैठने की ठीक व्यवस्था नहीं थी। प्लेटफार्म पर टीन शैड भी काफी गैप में लगे होने की वजह से गर्मियों में यात्रियों को खाशी परेशानी का सामना करना पड़ता है। वाटर कूलर सही न होने की वजह से यात्रियों प्यास बुझाने के लिए पानी खरीदना पड़ता है। डीआरएम से शिकायत की गई कि जानबूझकर वाटर कूलर सही नहीं कराए जाते। इस पर उन्होंने स्टेशन प्रबंधक से पूछा कि कब से ठंडे पानी के लिए वाटर कूलर चलाने का प्राविधान है, जिसको लेकर स्टेशन प्रबंधक ने कहा कि 1 अप्रैल से ही वाटर कूलर चलाये जाते हैं, लेकिन मशीनें खराब होने की वजह से इस बार थोड़ा विलंब हो गया है। सबसे गंभीर शिकायत यह हुई कि एलईडी डिस्प्ले पर ट्रेनों बोगियों के सेंटर के बारे में गलत सूचना डिस्प्ले होती है, जिससे यात्री परेशान होते हैं। इतना ही नहीं सही प्वाइंटों पर ट्रेन रुकती भी नहीं है। इससे आरक्षित टिकट लेने वाले यात्रियों को सबसे ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़ता है । डीआरएम ने इसे गंभीरता से लेते हुए टेक्नीकल विभाग से जबाव मांगा। सुरक्षा को लेकर यहां खराब स्थिति देखने को मिली। डीआरएम जब निरीक्षण पर थे, उसी दौरान प्लेटफार्म से एक व्यक्ति अंदर से साइकिल निकालते हुए दिखाई दिया। डीआरएम ने इसको लेकर आरपीएफ इंस्पेक्टर से कहा कि स्टेशन के अंदर लोग वाहन लेकर कैसे आ गए। बाहर वाहन पार्किग के लिए निर्धारित जगह की बजाए बेतरतीब तरीके से वाहन यहां वहां खड़े देख उन्होंने आरपीएफ इंस्पेक्टर से कहा कि जो भी वाहन पार्किग के इतर खड़े हों उन्हें जब्त तक चालान करें। निरीक्षण के बाद उन्होंने पत्रकारों के बातचीत के दौरान बताया कि जून 2018 तक डबल लाइन का काम पूरा हो जाएगा। इसमें प्लेटफार्म नंबर दो व तीन नये सिरे से बनेंगे। इस वजह से फिलहाल वहां नया काम नहीं होगा। इससे पहले उन्होंने एट रेलवे स्टेशन भी देखा।

एट शटल का फेरा बढ़ाने की मांग

सांसद भानुप्रताप वर्मा की तरफ से एक प्रतिनिधिमंडल ने डीआरएम को ज्ञापन देकर एट-कोंच शटल ट्रेन का सुबह के वक्त एक और फेरा बढ़ाने की मांग की। इसके अलावा इंटरसिटी में एसी बोगी बढ़ाने, वेटिंग रूम का आकार बढ़ाने, प्लेटफार्म संख्या 2 व 3 पर छाया के लिए टीन शेड बढ़ाने की मांग भी ज्ञापन में की गई। ज्ञापन देने वालों में व्यापारी नेता दिलीप सेठ, अनिल बहुगुणा, गोविंद मुरारी, सुशील टिकरिया, बृजकिशोर गुप्ता आदि शामिल रहे।