जासं, हाथरस : रोडवेज बस स्टैंड से अलीगढ़ के लिए बस न मिलने पर मंगलवार को दैनिक यात्रियों ने हंगामा काटा। स्टाफ से यात्रियों की नोकझोंक भी हुई। पुलिस के आने पर ही यात्री शांत हुए। शहर में फ्लाईओवर चालू होने के बाद अलीगढ़ और आगरा के लिए बसें अंदर नहीं जाने से यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ रही है।

अलीगढ़ से हाथरस और हाथरस से अलीगढ़ रोजाना सैकड़ों यात्री सफर करते हैं। ये यात्री अलीगढ़, बुद्धविहार डिपो, हाथरस डिपो के अलावा आगरा से आने वाली बसों पर निर्भर रहते हैं। इसमें नौकरी पेशा के अलावा स्टूडेंट भी शामिल हैं। रोजाना की तरह मंगलवार को सुबह नौ बजे अलीगढ़ जाने के लिए ड्यूटी वाले बस स्टैंड पर खड़े थे। स्टैंड पर अलीगढ़ के लिए बस नहीं थी। यात्रियों ने इन्क्वायरी पर पूछा तो वहां संतोषजनक जवाब नहीं मिला। साढ़े नौ बजे तक बस न मिलने पर यात्रियों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान वहां मौजूद स्टाफ से नोकझोंक हो गई, क्योंकि ड्यूटी जाने वालों का समय निकल रहा था। यात्रियों का बढ़ता हंगामा देखकर वहां मौजूद स्टाफ ने पुलिस को बुला लिया। पुलिस वालों ने यात्रियों को शांत किया लेकिन समय पर बस न आने पर यात्रियों को बाइपास पर जाना पड़ा। ओवरब्रिज चालू होने से

भी कम नहीं हुई समस्या

पहले शहर में ओवरब्रिज नहीं था तब बसें बाइपास होकर निकल जाती थीं। यात्रियों को रुहेरी व नगला भुस पर अलीगढ़ और आगरा की बसों के लिए जाना पड़ता था। कुछ ही बसें मधुगढ़ी से इगलास अड्डा होकर निकल रही थीं, लेकिन अब ओवरब्रिज बनकर चालू भी हो गया, लेकिन यात्रियों की मुश्किलें खत्म नहीं हुईं, क्योंकि आज भी अधिकांश बसें बस स्टैंड से होकर आगरा और अलीगढ़ के लिए नहीं जा रही हैं। हाथरस से अलीगढ़ व आगरा से अलीगढ़ के लिए हाथरस बस स्टैंड होकर बसों के जाने के आदेश रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक ने एआरएम के माध्यम से ड्राइवर व कंडक्टरों को दे रखे हैं, लेकिन ड्राइवर व कंडक्टर आरएम व एआरएम के आदेश नहीं मान रहे हैं। मंगलवार को भी यात्रियों ने आरएम से अलीगढ़ और आगरा से आने वाली बसों के हाथरस बस स्टैंड होकर न जाने की शिकायत की। क्षेत्रीय प्रबंधक ने अनसुनी करने वाले ड्राइवर व कंडक्टरों पर कार्रवाई करने की बात कही है।

Edited By: Jagran