जासं, हाथरस : कोतवाली सदर क्षेत्र के गढ़ी जैनी निवासी युवक की हत्या के मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया था जिन्हें गुरुवार को जेल भेज दिया गया। रुपयों के लेनदेन के विवाद में बंटी की हत्या कर शव पोखर में फेंका था।

हाथरस गेट के गांव गढ़ी जैनी निवासी बंटी पुत्र निरंजन सिंह हाथरस के बागमूला चौराहे पर सैलून की दुकान पर काम करता था। शनिवार की को दोस्त उसे बुलाकर ले गए थे। शाम को छह बजे फोन करने पर उसने खुद को हाथरस जंक्शन में बताया था। बाद में उसका फोन स्विच आफ हो गया था। बुधवार को उसका शव हाथरस जंक्शन क्षेत्र में गांव नगला अलिया के पास पोखर से बरामद हुआ था। स्वजन ने गांव गंगचौली निवासी भीमा पंडित, राहुल पंडित और नरेंद्र उर्फ कलुआ के खिलाफ अपहरण और हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने राहुल और नरेंद्र को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। इंस्पेक्टर अरविन्द्र राठी का कहना है कि दोनों आरोपितों से पूछताछ में काफी जानकारी मिली है। बताया है कि उन्होंने एक साथ नशा किया था। इस दौरान बंटी ने राहुल से बाल काटने के दस रुपये बकाया होने की बात कही और रुपये मांगे। राहुल ने पैसे देने से इन्कार किया तो विवाद बढ़ गया। इसी बात पर बंटी को पीटकर मौत के घाट उतार दिया और शव के हाथ पैर बांधकर पोखर में फेंक दिया था। हाथरस जंक्शन के प्रभारी रीतेश कुमार ने बताया कि मृतक के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं मगर मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका तो विसरा सुरक्षित कर लिया है।

Edited By: Jagran