जागरण संवाददाता, हाथरस : बचपन में सिखाई गईं अच्छी आदतों को यदि हम गंभीरता से लें तो कई गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। रात में ब्रश करके सोना इनमें से एक है। दांतों पर जमने वाली पीली परत व उससे होने वाले पायरिया का मुख्य कारण दांतों की सफाई न होना है। दैनिक जागरण के हेलो जागरण कार्यक्रम में आए दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. वरुण गुप्ता ने कॉलर्स को दांतों की सेहत से संबंधित परामर्श दिया। कार्यक्रम में काफी पाठकों ने कॉल कर समस्या का समाधान जाना। पेश हैं चुनिंदा सवाल और उनके जवाब। काफी समय से मसूड़ों से खून आता है, बदबू भी आती है।

-राजकुमार, जैतपुर, मुरसान

-यह पायरिया के लक्षण हैं। चिकित्सक को दिखा लें। तत्काल राहत के लिए गर्म पानी में नमक डालकर कुल्ला करें। रात को ब्रश करके सोएं।

आगे के दांत में कीड़ा लग गया है। ठंडा पानी भी लगता है।

-तनिष्का शर्मा, सिकंदराराऊ

-कीड़ा लगने के बाद डेंटिस्ट को दिखाना जरूरी है। एक्स-रे के बाद पता चलेगा कि क्या ट्रीटमेंट दिया जाना है। लापरवाही की तो पूरा दांत सड़ सकता है। जल्दी उपचार कराएं।

नीचे की दो दाढ़ में कीड़े लगे हैं। ठीक नहीं हो रहा। कुछ दिनों के लिए दर्द बंद होता है, फिर शुरूहो जाता है। ऊपरी दाढ़ भी प्रभावित हो रही है।

-राहुल चौहान, सिकंदराराऊ

-कीड़े धीरे-धीरे दाढ़ को खोकला कर देते हैं। गड्ढा जितना गहरा होता है, उतना दर्द होता है। दवा खाने पर दर्द दब जाता है, लेकिन असर खत्म होते ही फिर दिक्कत होती है। जल्दी ट्रीटमेंट कराएं।

काफी प्रयास के बाद भी दांतों का पीलापन नहीं जा रहा।

-बलवीर सिंह, सासनी

-पीली परत पायरिया की शुरुआत है। दांतों में गैप सफाई के कारण दिखता है। रात को ब्रश करके सोएं। कुछ दिन में ही इसका असर दिखेगा।

वर्षो से सामने वाला दांत हिल रहा था। कुछ दिन पहले सफाई कराई थी। इससे यह दांत और हिलने लगा। मुझे डायबिटीज है। दांत निकलवाना सही रहेगा?

-ऊषा देवी, सिकंदराराऊ

-दांतों की दो तरह की पकड़ होती है। एक हड्डी की व एक मसूड़े की। हड्डी की पकड़ छूटने पर उसे हटाना ही ठीक है। यदि डायबिटीज 200 के अंडर रहती है तो अब दांत हटवा सकती हैं।

मेरे बेटे की उम्र पांच वर्ष है। गिरने के कारण दांत में चोट लगी थी। अब दांत में कीड़ा भी लग गया है।

-पंकज शर्मा, सिकंदराराऊ

दूध के दांत सात वर्ष की आयु के आसपास गिरते हैं। अभी दूध के दांत गिरने का समय नहीं है। इसलिए दांत निकलवाना ठीक नहीं। एक बार चिकित्सक को दिखा लें।

60 वर्ष का हूं। रोटी चबाने में दिक्कत आती है। दर्द होता है। क्या करूं?

-रामखिलाड़ी, सूरजपुर, लाड़पुर

यह पायरिया की दिक्कत हो सकती है। एक बार चिकित्सक को दिखा लें। दांतों की सफाई का ध्यान रखें। सुबह व रात को सोते समय ब्रश करें। गर्म पानी में नमक डालकर कुल्ला करने से राहत मिलेगी। इन्होंने भी पूछे सवाल

सिकंदराराऊ बरसौली के विशंबर सिंह, मढ़ाका के सुभाष चौधरी, चामड़ गेट के राकेश वाष्र्णेय, सादाबाद की रिचा सिसौदिया, वीर नगर सादाबाद के विशन कुमार, सादाबाद के सतीश कुमार, बिसावर के उत्तम सिंह, सिकंदराराऊ की मेघा शर्मा, हाथरस के धर्मेंद्र सिंह, अमित अग्रवाल आदि ने सवाल किए। इन बातों का रखें ख्याल

-नियमित दो बार ब्रश करें। रात को सोते समय ब्रश जरूर करें।

-खूब पानी पीएं। यह प्राकृतिक माउथवाश का काम करता है तथा गंदगी नहीं जमने देता।

-ब्रश का चयन संभल करें तथा ब्रश करने का सही तरीका सीखें।

-दांतों के साथ-साथ जीभी की भी सफाई करें। जीभ पर भी बेक्टेरिया पनपते हैं, जो दुर्गंध की वजह बनते हैं।

-खाना खाने के बाद पानी में नींबू मिलाकर कुल्ला करें। इससे दातों पर पीली परत नहीं जमेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप