संवाद सहयोगी, हाथरस : सहालग में यात्रियों की संख्या बढ़ने से ट्रेनों में आरक्षण नहीं मिल पा रहा है। दक्षिण व पश्चिम की ओर जाने वाली ट्रेनों में 20 से 30 दिन की वेटिग चल रही है। आरक्षित टिकट के लिए सबसे अधिक भीड़ सिटी स्टेशन स्थित रेलवे काउंटर पर लग रही है। इस बीच तीन यात्री ट्रेनों को एक दिसबंर से बंद किया जा रहा है। इससे सफर की मुश्किल और बढ़ जाएगी।

यातायात के साधनों में सबसे अधिक ट्रेनों को ही पसंद किया जाता है। इसमें भी लंबी दूरी की यात्रा करने के लिए भी ट्रेनों से अधिक अच्छा कोई अन्य साधन नहीं है। दूर-दराज के शहरों में जाने के लिए ट्रेनों में यात्रियों द्वारा आरक्षण कराया जा रहा है। पूर्वोतर रेलवे के सिटी स्टेशन स्थित आरक्षण केंद्र पर सुबह से ही यात्री आरक्षण कराने के लिए पहुंच रहे हैं। यहां पर सुबह आठ बजे से 12 बजे तक और दोपहर में एक बजे से शाम पांच बजे तक आरक्षण किया जा रहा है।

प्रतिदिन 180 से अधिक आरक्षण

जिले में ट्रेनों में आरक्षण के लिए तीन केंद्र स्टेशनों पर निर्धारित हैं। आरक्षण इंचार्ज मनोज कुमार गुप्ता ने बताया कि सिटी स्टेशन पर प्रतिदिन 100 से अधिक आरक्षण हो रहे हैं। शहर के बीच में होने से यहां पर अधिक भीड़ लगती है। इसके अलावा हाथरस जंक्शन स्टेशन पर करीब 30 और किला स्टेशन पर 50 से अधिक आरक्षण किए जा रहे हैं। दक्षिण व पश्चिम की ओर

की ट्रेनों में लंबी वेटिंग

सहालग के चलते ट्रेनों में आरक्षण नहीं मिल पा रहा है। इसमें सबसे अधिक 25 से 30 दिन की वेटिग मुंबई, गोआ, चेन्नई, बेंगलुरू, अहमदाबाद, पटना, गया, गोरखपुर की ओर जाने वाली ट्रेनों में चल रही है। इनमें मुंबई-कानपुर, मुंबई-लखनऊ, गोरखपुर-अहमदाबाद, पश्चिम एक्सप्रेस सहित कई एक्सप्रेस ट्रेन शामिल हैं। लोकल ट्रेनों में उमड़ रही भीड़

कोरोना काल के बाद ट्रेनों में सबसे अधिक भीड़ इन दिनों सहालग के चलते दिख रही है। सिटी स्टेशन व हाथरस जंक्शन स्टेशन से करीब 10 जोड़ी लोकल यात्री ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। दोनों स्टेशनों पर ट्रेन आगमन के दौरान यात्री जान जोखिम में डालकर ऊपरगामी पुल का प्रयोग नहीं कर जल्दबाजी में रेलवे ट्रैक को पार कर निकलते हैं। कोहरे का असर : सर्दियों में कोहरे का असर ट्रेनों के संचालन पर भी पड़ रहा है। लंबी दूरी की ट्रेनें विलंब से स्टेशन पर पहुंच रही हैं। एसएस पवन कुमार ने बताया कि बदल रहे मौसम के चलते उत्तर-मध्य रेलवे की नई दिल्ली से मालदा टाउन जाने वाली फरक्का एक्सप्रेस, इलाहाबाद से अंबाला जाने वाली ऊंचाहार और कटिहार से अमृतसर जाने वाली कटिहार एक्सप्रेस एक दिसंबर से बंद हो जाएंगी।

Edited By: Jagran