जासं, हाथरस : जिलाधिकारी रमेश रंजन ने विकासखंड सासनी के ग्राम पंचायत सुसायत कलां में संचालित हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का निरीक्षण किया और दवाओं की उपलब्धता मानक के अनुसार न होने पर नाराजगी जताई।

जिलाधिकारी ने उपस्थिति पंजिका, ओपीडी पंजिका, दवा स्टाक पंजिका का निरीक्षण किया। ओपीडी पंजीकरण का अवलोकन करने पर पाया गया कि प्रतिदिन लगभग 10 से 12 मरीज आते हैं। दवा पंजिका का निरीक्षण करने पर पाया गया कि 58 दवाइयों के सापेक्ष केवल 30 दवाएं उपलब्ध हैं, दवाओं की उपलब्धता मानक के अनुसार न होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए तत्काल दवाओं की आपूर्ति हेतु मांग भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने तैनात सीएचओ को नियमित रूप से प्रात: 10 से 12 तक उपस्थित रहकर आने वाले मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। उन्होंने नियमित रूप से साफ सफाई कराने तथा सेंटर पर मूल मूलभूत सुविधा को दुरुस्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने एमओआइसी को समय-समय पर हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों का निरीक्षण करते हुए कमियों को दूर करने के निर्देश दिए।

इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी के निर्देशन में परियोजना निदेशक डीआरडीए एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी हाथरस ने हेल्थ वेलनेस सेंटर द्वारकापुर एवं बसई काजी तहसील सासनी का निरीक्षण किया। एसडीएम ने निरीक्षण कर सील किया खाद गोदाम संसू, सादाबाद : मई में खाद की बिक्री में अनियमितता और कालाबाजारी की शिकायत पर बुधवार को एसडीएम ने छापेमारी की। शिकायत सही मिलने पर गोदाम सील कर दिया।

मई में खाद की दुकान को लेकर एसडीएम से शिकायत की गई थी। बुधवार को एसडीएम अंजलि गंगवार दुकान का निरीक्षण करने पहुंचीं। निरीक्षण में पता चला कि खाद विक्रेता दुकान बंद रखता है और स्टॉक न होने का बहाना बताकर किसानों को लौटा देता है। एसडीएम के अनुसार मई क्षेत्र में अभयपुरा रोड से खाद विक्रेता के गोदाम का भी निरीक्षण किया गया। यहां ट्रैक्टर ट्राली में खाद के बोरे लदे पाए गए, गोदाम में भी खाद का स्टाक मिला। जानकारी मिली है कि खाद विक्रेता काफी समय से दुकान बंद करके गोदाम के माध्यम से खाद की कालाबाजारी कर रहा है। एसडीएम के आदेश पर अधीनस्थों ने खाद के गोदाम को सील कर दिया। निरीक्षण के दौरान खाद बिक्री और स्टाक को लेकर अभिलेखों में तमाम खामियां मिली हैं। कार्रवाई के लिए जिला कृषि अधिकारी को पत्र लिखा गया है।

Edited By: Jagran