संस, हाथरस : कोतवाली चंदपा से जुड़े एक गांव में ट्यूबवेल पर पानी पीने गई किशोरी से एक व्यक्ति ने छेड़छाड़ कर दी। पीड़िता की मां के विरोध करने पर आरोपित ने जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया। सीओ सादाबाद से गुहार के बाद रिपोर्ट दर्ज हो पाई। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

14 अक्टूबर को महिला खेत पर घास काट रही थी। उसकी 14 वर्षीय पुत्री पास में ही खेल रही थी। प्यास लगने पर किशोरी पास के ट्यूबवेल पर पानी पीने चली गई। वहां पहले से मौजूद आरोपित प्रेम शंकर ने किशोरी को जबरन पकड़ लिया और ट्यूबवेल के कमरे में ले जाने की कोशिश की। किशोरी किसी तरह उसके चंगुल से छूटकर अपनी मां के पास पहुंची और घटना की जानकारी दी। महिला जब विरोध दर्ज कराने आरोपित के पास पहुंची तो उसने जातिसूचक शब्दों से महिला को अपमानित किया और धमकी दी कि कहीं भी शिकायत कर दे, पुलिस उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती। महिला का आरोप है कि थाने में रिपोर्ट दर्ज न होने पर उसने सीओ सादाबाद बह्मसिंह के यहां प्रार्थना पत्र दिया। सीओ के निर्देश पर आरोपित के खिलाफ छेड़छाड़, पाक्सो एक्ट और एससी-एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोपित प्रेम शंकर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। टेंपो में लगाई आग, तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज

संस, हाथरस : चंदपा थाने के गांव कुम्हरई में पिछले दिनों एक युवक ने अपने साथियों के साथ मिलकर एक व्यक्ति के टेंपो में आग लगा दी। पुरानी रंजिश के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया। अब पीड़ित ने एक नामजद सहित तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया है।

गांव कुम्हरई निवासी किशोर कुमार का कहना है कि गांव के ही शादाब को उसने 59 हजार रुपये उधार दिए थे। जब रकम वापस मांगी तो उससे शादाब रंजिश मानने लगा। 26 सितंबर की रात को किशोर का टेंपो घर के बाहर खड़ा था। आरोप है कि शादाब अपने दो साथियों के साथ आया और टेंपो में आग लगा दी। उन्हें ऐसा करते किशोर के ताऊ ने देख लिया। जब परिवार के लोग शादाब के घर शिकायत करने गए तो गाली-गलौज के साथ जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने तहरीर के आधार शादाब सहित तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इंस्पेक्टर नीतावीर सिंह का कहना है कि जल्द ही आरोपितों की गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाएगी। फलदार वृक्ष भी किए थे बर्बाद

गांव कुम्हरई में ही किशोर की पपीतों की खेती थी। सितंबर में उनके लाखों रुपये कीमत की फसल को बर्बाद कर दिया गया। पीड़ित ने तब भी शादाब के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया था। पीड़ित का लगातार आरोपित नुकसान कर रहा है। अब उसकी गिरफ्तारी की मांग की गई है।

Edited By: Jagran