जासं, हाथरस : एसटीएफ की बरेली यूनिट ने सोमवार को चंदपा थाने पहुंचकर इंस्पेक्टर से केस डायरी ली और उस वीडियो के बारे में भी जानकारी ली, जिसमें कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय सचिव श्यौराज जीवन ने भड़काऊ बयान दिया है। एसटीएफ इसके बाद बूलगढ़ी गांव भी गई और मृतका के स्वजन से श्यौराज जीवन के बयान को लेकर जानकारी ली। यह भी जाना कि वे जब आए थे तो क्या-क्या कहा था। टीम ने सभी दस्तावेज और वीडियो क्लिप ले ली है। श्यौराज जीवन के खिलाफ थाना चंदपा में मामला दर्ज है।

बूलगढ़ी प्रकरण में शुरू से ही श्यौराज जीवन एक्टिव नजर आए थे। युवती पर 14 सितंबर को हमला हुआ था। 20 सितंबर को श्यौराज जीवन ने भड़काऊ बयान दिया था। यहीं से राजनीतिक आवागमन बूलगढ़ी में शुरू हुआ और मामला तूल पकड़ता चला गया। भड़काऊ बयान देने पर जीवन के खिलाफ अक्टूबर के पहले सप्ताह में चंदपा कोतवाली में मुकदमा संख्या 154/20 दर्ज किया गया था। सात अक्टूबर को एक टीवी चैनल के स्टिग ऑपरेशन में श्योराज जीवन विवादित बयान देते नजर आए। इसके बाद आठ अक्टूबर को चंदपा पुलिस ने उन्हें थाने बुलाया और गोपनीय स्थान पर ले जाकर तीन घंटे पूछताछ की थी। बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। उनके खिलाफ दर्ज मुकदमे की जांच अब एसटीएफ कर रही है। एसटीएफ बरेली यूनिट की टीम ने सोमवार को चंदपा थाने आकर इंस्पेक्टर से पूरे घटनाक्रम को जानने के साथ केस डायरी भी ली। इस संबंध में समस्त दस्तावेज ले लिए हैं। एसटीएफ ने दोपहर बूलगढ़ी गांव जाकर मृतका के पिता और दोनों भाइयों से बातचीत की। पूछा कि इस मामले में श्यौराज जीवन ने परिवार के सामने क्या-क्या कहा था। पूरी जानकारी लेने के बाद टीम गांव से शाम को हाथरस आ गई। एसएचओ चंदपा ने बताया कि एसटीएफ को संबंधित दस्तावेज सौंप दिए गए हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस