जासं, हाथरस : त्योहारी सीजन चल रहा है। बाजार में छोटी से लेकर बड़ी वस्तुओं की मांग होती है। आम जरूरत की चीजों के अलावा सोने व चांदी के आभूषणों की खरीद भी शुरू हो गई है। महंगाई के बावजूद सोने व चांदी के आभूषणों की खरीद चल रही है। परंपरागत आभूषणों से अलग हटकर स्टाइलिश और लाइटवेट ज्वेलरी अधिक पसंद की जा रही है।

दीपावली अगले महीने के पहले सप्ताह में है। धनतेरस पर ज्वेलरी की अधिक मांग रहती है, लेकिन इससे पहले खरीदारी की जा रही है। पाजेब, बिछिया व अंगूठी के अलावा अन्य छोटे आयटमों की बिक्री चल रही है। कोरोना काल के बाद श्राद्ध पक्ष में बाजार में मंदी छायी रही थी। अब दीपावली व धनतेरस के अलावा सहालग के दिनों में बाजार को अच्छी उम्मीद है।

महंगाई की मार: इस समय सोने और चांदी के भाव आसमान छू रहे हैं। हालांकि पिछले साल की तुलना में सोना सस्ता है। सोने के भाव इस समय 49 हजार 300 रुपये प्रति दस ग्राम है जबकि चांदी के भाव 640 रुपये प्रति दस ग्राम है। पिछले साल सोने के भाव 53 हजार रुपये प्रति दस ग्राम था। चांदी का भाव लगभग पिछले साल के बराबर चल रहा है। महंगाई के कारण कम वजनी ज्वेलरी पसंद की जा रही है। सिगापुरी डिजाइन की बीछिया महिलाएं पसंद कर रही हैं। बीछिया ढले हुए हैं। इनमें नग नहीं होते हैं। पायल में डोली बनी डिजाइन आ रही है। सर्राफ रामवल्लभ सिघल का कहना है कि बाजार में महंगाई का असर है। अभी खरीदारी तेजी नहीं पकड़ रही है। धनतेरस व दीपावली के अलावा आने वाले सहालग के सीजन में बाजार में अच्छी मांग रहेगी।

Edited By: Jagran