संवाद सहयोगी, हाथरस: मां रामवती चिलिग एंड आइस प्लांट द्वारा दिए गए सिक्के विद्युत विभाग द्वारा न लिए जाने के मामला ठंडा नहीं पड़ रहा है। अब प्लांट के मैनेजर ने वकील के के माध्यम से विद्युत वितरण खंड द्वितीय के एक्सईएन को नोटिस भिजवाया है।

मेंडू रोड पर सोखना के निकट पूर्व ब्लॉक प्रमुख रामेश्वर उपाध्याय का मां रामवती चिलिग एंड आइस प्लांट है। प्लांट पर विद्युत विभाग का करीब 10 लाख 94 हजार रुपये का बकाया है। शनिवार को प्लांट के मैनेजर कपिल पाठक अपना बकाया जमा करने के लिए विद्युत वितरण खंड द्वितीय कार्यालय पहुंचे। जहां उन्होंने दस रुपये के सिक्के के रूप में रकम कार्यालय में जमा कराने के लिए दी, लेकिन सिक्कों की संख्या अधिक देख कर्मचारियों ने बिल का पैसा लेने से मना कर दिया। मैनेजर कपिल ने आरोप लगाए थे पिछले कई महीने से वो पैसा जमा कराने के लिए जा रहे हैं, लेकिन उनका पैसा जमा नहीं कराया जा रहा।

अब मैनेजर ने सिविल कोर्ट के अधिवक्ता रवि कुमार शर्मा के माध्यम से एक्सईएन द्वितीय को नोटिस भेजा है, जिसमें कहा गया है कि उनके पक्षकार का बर्फ व दूध का चिलर प्लांट है, जिसमें सिक्के ही अधिकतर आते हैं। जब आपसे सर्कुलर दिखाने के लिए कहा गया तो मना कर दिया गया। भारतीय मुद्रा का अपमान किया जा रहा है। उनके पक्षकार का विद्युत संयोजन विच्छेदित करने और पेनाल्टी लगाने की धमकी दी जा रही है। पक्षकार द्वारा जमा की जाने वाली विद्युत बिल की धनराशि जमा नहीं कर रहे, जिससे उन्हें मानसिक आघात पहुंचा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस