संवाद सहयोगी, हाथरस: कोरोना क‌र्फ्यू का असर शुक्रवार को शहर में देखने को मिला। सुबह से ही बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ था। व्यस्ततम रहने वाले शहर के बाजारों में चारों ओर सुनसान नजारा रहा। दूध व दवाओं की दुकानें भी ग्राहकों के इंतजार में सूनी पड़ी थीं। वहीं, सासनी, सादाबाद, सिकंदराराऊ में भी बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते एक बार फिर से शहर में लाकडाउन लागू कर दिया है। इसे अलग-अलग चरणों में लगाया जा रहा है। शुक्रवार को सुबह करीब 10 बजे के समय था। शहर के व्यस्ततम रहने वाले सासनी गेट चौराहे पर दूर-दूर तक सन्नाटा पसरा हुआ था। यहां सामान्य दिनों में काफी भीड़ रहती है। रेलवे क्रासिग का गेट खुलने के बाद तो यहां लगे जाम को दूर करने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ती है। यहां पर दो चार राहगीर ही सड़कों से गुजरते दिखे।

सन्नाटे के साए में रहे बाजार

सुबह करीब 11 बजे के समय शहर के कमला बाजार से लेकर बागला मार्ग, रामलीला मैदान, बैनीगंज, घंटाघर, पंजाबी मार्केट, नजिहाई, गुड़हाई, नयागंज, सादाबाद गेट, मुरसान गेट सहित सभी बाजारों में दुकानों के शटर गिरे हुए थे। ग्राहक तो दूर-दूर तक नहीं दिख रहे थे।

सड़कों पर 80 फीसद कम रहा आवागमन

सुबह करीब 12 का समय रहा होगा। तालाब चौराहा पर 10-15 राहगीर नजर आ रहे थे। कुछ बाइक सवार रेलवे क्रासिग के बंद गेट से निकलते हुए दिखे। यहां सामान्य दिनों में हर समय करीब 500 लोगों की भी भीड़ बनीं रहती हैं। यहां से ही अलीगढ़- आगरा व बरेली- मथुरा राजमार्ग एक दूसरे से मिलते हैं। वहीं, लाकडाउन के चलते शराब व बीयर की दुकानों को भी बंद करा दिया था। यहां पर सुबह से ही भीड़ लगना शुरू हो जाती है। अलीगढ़ रोड, खातीखाना, आगरा रोड, जलेसर रोड की दुकानों के बंद रहने से यहां सन्नाटा पसरा हुआ था। हालांकि कुछ जगह शटर के नीचे से शराब ब्लैक में मिलने की खबर मिलती रहीं।

Edited By: Jagran