जागरण संवाददाता, हाथरस: हसायन ब्लाक के सचिव के साथ की गई बदसलूकी को लेकर भड़के सरकारी कर्मचारियों ने ब्लाक मुख्यालयों पर कामकाज ठप कर हसायन ब्लाक पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया। वहीं, ब्लाक प्रमुख पक्ष की ओर से भी धरना प्रदर्शन किया गया। दोपहर बाद सीडीओ ने दोनों पक्षों को जिला मुख्यालय बुलाकर समझौता करा दिया।

दोनों गुटों ने किया प्रदर्शन

संसू, हसायन: हसायन विकास खंड कार्यालय पर ग्राम विकास अधिकारी प्रकाश चंद्र के साथ ब्लाक प्रमुख धर्मेंद्र पाल सिंह द्वारा सार्वजनिक रूप से अपमानित, प्रताड़ित करने के आरोप को लेकर दूसरे दिन भी जनपद के सभी ब्लाकों से आए कर्मचारियों द्वारा धरना-प्रदर्शन किया गया। ग्राम विकास अधिकारी संगठन के अध्यक्ष यशपाल सिंह के नेतृत्व में ब्लाक पर धरना, प्रदर्शन किया गया और मांग की गई कि जब तक हमारे कर्मचारी की साथ की गई अभद्रता को लेकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाएगी तब तक हमारा यह प्रदर्शन जारी रहेगा।

अवैध वसूली करने पर सचिव पर हो कार्रवाई

हसायन ब्लाक परिसर में ग्राम पंचायत अधिकारी प्रकाश चंद्र द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ अखिल भारतीय पंचायत परिषद उत्तर प्रदेश के जिला अध्यक्ष मनोज कुमार सिसौदिया के साथ क्षेत्र के प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्यों के साथ ग्रामीणों ने भी एक तरफ ब्लाक परिसर में धरना प्रदर्शन किया। परिषद के अध्यक्ष ने तहसीलदार को ज्ञापन देते हुए ब्लाक में तैनात वीडीओ प्रकाश चंद्र को ग्रामीण जनता से अवैध वसूली को लेकर उसे बर्खास्त करने की मांग की गई है। प्रदर्शन में किसान मजदूर संगठन के जिलाध्यक्ष निशांत चौहान द्वारा भी अपना समर्थन देते हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने की जंग में शामिल होते हुए कर्मचारी को बर्खास्त करने की मांग की है।

दोनों पक्षों को जिला मुख्यालय बुलाया गया था। दोनों पक्ष की बात सुनने के बाद समझौता करा दिया गया है। इस दौरान दोनों पक्ष एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप भी लगा रहे थे।

आरबी भास्कर, सीडीओ हाथरस।

ग्राम पंचायत अधिकारी के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने वालों से मेरा कोई संबंध नहीं है। वह मेरे समर्थन में नहीं बल्कि अवैध वसूली करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने को धरना दे रहे थे। अवैध वसूली को लेकर जो शिकायतें आईं है उनकी जांच जरूर कराई जाएगी।

धर्मेंद्र पाल सिंह, ब्लाक प्रमुख हाथरस।

Edited By: Jagran