संवाद सूत्र, हाथरस : सहपऊ कोतवाली सहपऊ के गांव नगरिया के निकट बुधवार की सुबह मानिकपुर चौकी पर तैनात दो सिपाहियों ने अवैध खनन की मिट्टी ले जा रहे ट्रैक्टर को रोक लिया। ट्रैक्टर चालक से मारपीट पर तमाम ग्रामीण एकत्रित हो गए। सिपाही सादा वर्दी में थे। ग्रामीणों ने उनके साथ जमकर मारपीट की। एक सिपाही को गंभीर हालत में आगरा भेजा गया है। पुलिस ने गुरुवार शाम को 23 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।

मानिकपुर पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही अजीत कुमार व रोहित यादव अवैध खनन की सूचना पर सादा कपड़ों में ही गांव नगरिया में गए थे। मिट्टी लदी ट्रैक्टर ट्रॉली को रुकवाया। पूछताछ करने के बाद उन्होंने चालक से ट्रैक्टर को कोतवाली ले जाने के लिए कहा। इस दौरान कहासुनी के बाद चालक और सिपाहियों के बीच मारपीट शुरू हो गई। चालक के पक्ष में गांव के कई लोग आ गए। सिपाही वहां से भागे तो ग्रामीणों ने पीछा करके दोनों को सल्हेपुर चंदवारा गांव के पास पकड़ लिया और बुरी तरह पीटा। कुछ लोगों ने बमुश्किल दोनों सिपाहियों को बचाया। गंभीर रूप से घायल सिपाही रोहित यादव को आगरा भेजा गया है।

सिपाहियों से मारपीट की सूचना पर काफी संख्या में पुलिस कर्मी गांव नगरिया पहुंचे। पुलिस को आते देख गांव के पुरुष गांव छोड़कर भाग गए हैं, वहां केवल महिलाएं मिलीं। पीड़ित पुलिसकर्मी अजीत कुमार की तहरीर पर कोतवाली में गांव के 23 लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज की गई है।

उधर, ग्रामीणों का कहना है कि पुलिसकर्मी सादा वर्दी में थे और वे ट्रैक्टर चाल के साथ मारपीट कर रहे थे। ग्रामीणों को देखकर दोनों भागने लगे तो बदमाश समझ कर उनके साथ मारपीट की गई। इन लोगों पर दर्ज हुआ मुकदमा

गांव नगरिया निवासी पवनेश, हिरेंद्र, शिशुपाल, शम्भू, श्रीनिवास, नितिन राजकुमार, मुनेश, लख्मी, जय प्रकाश, राकेश, सीटू, विष्णु, चंद्रभान, सुरेश चंद्र , प्रवेंद्र कुमार, जोंटी, प्रेमपाल, मुकेश कुमार, गब्बर, नन्हू, पंकज वर्मा और एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इनका कहना है

अवैध खनन की सूचना पर दोनों सिपाही पहुंचे थे, जिनके साथ मारपीट की गई। एक सिपाही की हालत गंभीर है। 23 लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

-मनोज कुमार, एसएचओ सहपऊ

गिरफ्तारी के डर से गांव छोड़ भागे हमलावर जासं, हाथरस : कोतवाली सहपऊ के गांव नगरिया के निकट मानिकपुर चौकी पर तैनात दो सिपाहियों अजीत कुमार और रोहित यादव को पीटने के मामले में पुलिस हमलावरों की सरगर्मी से तलाश कर रही है। पुलिस ने कई बार गांव में दबिश दी है। गिरफ्तारी के डर से हमलावर गांव छोड़कर भाग गए हैं। उनके घरों में महिलाएं ही रह गई हैं।

मानिकपुर पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही अजीत कुमार व रोहित यादव अवैध खनन की सूचना पर सादा कपड़ों में गांव नगरिया में गए थे। मिट्टी लदी ट्रैक्टर ट्रॉली को आता देख दोनों सिपाहियों ने ट्रैक्टर को रुकवाया। पूछताछ के बाद उन्होंने चालक को ट्रैक्टर कोतवाली ले जाने को कहा जिसपर कहासुनी के बाद मारपीट हो गई। सादा कपड़ों में होने के कारण ग्रामीण दोनों सिपाहयों पर हमलावर हो गए। घटना के बाद से ही हमलावर गांव से फरार हैं। पुलिस ने हमलावरों पर धारा 147, 148, 149, 308, 332, 353, 323, 504 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार गांव में दबिश दे रही है मगर गांव के लोग भूमिगत हो गए हैं। वहीं कार्रवाई के डर से खनन माफिया में खलबली मची हुई है।

Edited By: Jagran