जासं, हाथरस : सादाबाद में रविवार को सपा-बसपा-रालोद गठबंधन प्रत्याशी रामजीलाल सुमन के बोल रविवार को फिर बिगड़ गए। उन्होंने बड़ा विवादित बयान दिया। प्रधानमंत्री व आरएसएस को गद्दार बताया। कहा, देश को तोड़ने में वीर सावरकर का हाथ था न कि जिन्ना का। पाकिस्तान सावरकर की देन है न कि जिन्ना की।

सादाबाद के छाबी मियां बाग में हुई सभा में हुई सभा में उन्होंने देश किसी के बाप की बापौती नहीं है। किसी प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति की वजह से देश सुरक्षित नहीं है। देश किसानों के बेटे की वजह से सुरक्षित है, जो सीमा पर तैनात है। यह दिखाया जा रहा है कि पूरे देश में कि केवल भारतीय जनता पार्टी के नेता व प्रधानमत्री ही देश भक्त हैं, बाकी सब गद्दार हैं। मोदी आरएसएस की पैदाइश हैं। यह वही संघ है जिस पर सरदार पटेल ने वैन लगाया था। महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गौड़ के अनुयायी कब से देश भक्त हो गए।

उन्होंने कहा कि तीन तलाक की बात करने वाले देश के प्रधानमंत्री पहले यह बताएं कि अपनी बीबी से कितने तलाक लिए। उनकी बीबी मथुरा, वृंदावन, काशी सहित तमाम मंदिरों में घूम रही है। जब बच्चे ही नहीं करने थे तो क्यों शादी की? दूर ही रहना था तो क्यों शादी की? जो अपनी बीबी के लिए वफादार नहीं हो सका, वह देश के लिए कैसे वफादार हो सकता है। मोदी के हाथ में देश सुरक्षित नहीं है। सत्तारूढ़ पार्टी के मुद्दों में गाय, गंगा, लव जिहाद, तीन-तलाक हैं। 20 हजार करोड़ खर्च हो गया लेकिन गंगा आज भी मैली है। उन्होंने मुरसान के राजा महेंद्र प्रताप सिंह का जिक्र करते हुए कहा कि राजा ने 32 साल तक राजपाठ छोड़ पूरी दुनिया में घूमकर आजादी के लिए माहौल नाया और प्रेम विद्यालय की स्थापना की। प्रेम विद्यालय का उद्घाटन करने को राष्ट्रपिता महात्मागांधी यहां आए थे। महात्मागांधी ने अपने भाषण में कहा कि लोग मुझे भला व्यक्ति समझते हैं, लेकिन मुझ से भी भला कोई है तो राजा महेंद्र प्रताप सिंह हैं।

Posted By: Jagran