जागरण टीम, हाथरस : डेंगू और बुखार का प्रकोप कोरोना संक्रमण से भी खतरनाक होता जा रहा है। डेंगू व बुखार से प्रतिदिन लोगों की मौतें हो रही हैं। गुरुवार को जिले में सात लोगों की मौत से परिवारों में कोहराम मचा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग शिविर लगाकर दवाइयों का वितरण करा रहा है। मलेरिया और डेंगू की जांच के लिए लोगों का ब्लड सैंपल भी लिए जा रहे हैं। गुरुवार को 154 लोगों के सैंपल लिए गए।

सिकंदराराऊ के मोहल्ला गौसगंज निवासी जयवीर सिंह (70) को चार दिन से बुखार आ रहा था। स्वजन ने उनका उपचार कस्बे के एक चिकित्सक से कराया। अचानक तबीयत ज्यादा खराब होने के कारण स्वजन उन्हें उपचार के लिए अलीगढ़ लेकर गए। अलीगढ़ के मेडिकल कालेज से दवा लेने के बाद उनको घर लाया गया, जहां बुधवार की रात तेज बुखार के कारण उनकी मौत हो गई। सपहऊ के गांव मानिकपुर में छह वर्षीय किशोरी कनिका, गांव थरौरा में 28 वर्षीय कमलेश, गांव रसगवां में 44 वर्षीय विजय कुमार चौहान, 65 वर्षीय शारदा देवी एवं इसी गांव की 45 वर्षीय सरोज देवी की बुखार से मौत हो गई। क्षेत्र में अब तक बुखार से लगभग 20 लोगों की जान जा चुकी है। बुखार से मरने वालों का का ग्राफ लगातार बढने से लोगों में दहशत का माहौल है। गांव रसगवां निवासी विजय कुमार चौहान का इलाज पहले खंदौली में, फिर आगरा में हुआ। आगरा में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इसी गांव की शारदा देवी का इलाज अलीगढ़ में चल रहा था। इलाज के दौरान अलीगढ़ में ही उनकी मौत हो गई। इसी गांव की सरोज देवी का इलाज भी आगरा में चल रहा था, जहां उनकी मौत हो गयी। गांव थरौरा निवासी कमलेश देवी का इलाज आगरा में चल रहा था, जहां उनकी मौत हो गई। कनिका को इलाज के लिए आगरा ले जाते समय उसकी मौत हो गई।

सादाबाद में तैनात शिक्षामित्र राजवीर शर्मा के 20 वर्षीय इकलौते पुत्र अभिषेक शर्मा की दिल्ली में उपचार के दौरान गुरुवार सुबह मौत हो गई। सादाबाद क्षेत्र में हालात खराब

गांव अभयपुरा में डा. प्रेमपाल शर्मा की टीम ने अभयपुरा में कैंप लगाकर बुखार के 61 मरीज देखे तथा 15 के ब्लड सैंपल लिए, जो मलेरिया के थे। 10 सैंपल डेंगू के लिए गए। 10 लोगों की एंटीजन जांच की गई। उधर, कुरसंडा में भी लगातार मरीज निकल रहे हैं। मरीजों में 24 वर्षीय कुश कुमार, निवासी नगला मोहन, नौ वर्षीय निशांत निवासी नगला दयाल, 29 वर्षीय रविद्र सिंह निवासी नगला दयाल, 32 वर्षीय मंजू देवी निवासी नगला दयाल, 10 वर्षीय दिव्यांशु, 18 वर्षीय रघुराज प्रताप सिंह निवासी नगला ध्यान का इलाज खंदौली में चल रहा है। ग्राम प्रधान कुरसंडा ने कुरसंडा के साथ-साथ ग्राम पंचायत दगसह, ग्राम पंचायत छावा में फागिग कराई। मरीजों ने झेली दिक्कतें

हसायन के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर गुरुवार को छुट्टी होने के कारण बारह बजे ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के गेट पर ताले डाल दिए गए। बाद में मरीजों का आना-जाना जारी रहा। छुट्टंी संबंधी कोई भी नोटिस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के गेट पर नहीं लगाया गया था। ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से ऐसी किसी अवकाश के दिन नोटिस चस्पा कराने की मांग की है, जिससे परेशानी से बचा जा सके। चंद्रवती निवासी शीतलवाड़ा का कहना है कि दवा लेने आई थी। अस्पताल बंद होने से काफी परेशानी हुई है।

Edited By: Jagran