जागरण संवाददाता, हाथरस : राज्य निगरानी समिति के सदस्य राम भरोसीलाल वाल्मीकि ने गुरुवार को कई विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें उन्होंने निर्देश दिए कि सफाई कर्मचारियों की समस्याओं का निस्तारण गंभीरता के साथ करें। लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

गुरुवार को एक दिवसीय दौरे पर आए रामभरोसी लाल वाल्मीकि ने लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन में समाज कल्याण विभाग के अलावा हाथरस नगर पालिका एवं पंचायत राज विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। समाज कल्याण विभाग से आए सहायक प्रबंधक सूर्यप्रकाश से जाना कि अनुसूचित जाति के कितने लोगों को रोजगार दिलाने को ऋण की व्यवस्था कराई। इस पर सहायक प्रबंधक ने बताया कि अप्रैल और मई में कोरोना के कारण लोग ऋण पाने के लिए आवेदन नहीं दे पाए थे मगर अब फार्म आने लगे हैं। अभी तक 28 फार्म पंडित दीनदयाल स्वत: रोजगार योजना के तहत आए हैं। सभी को जल्द ऋण दिलाया जाएगा। इसके बाद नगर पालिका हाथरस के ईओ डा. विवेकानंद गंगवार से सफाई कर्मचारियों की समस्याओं के बारे में जानकारी ली। ईओ ने बताया कि जो समस्याएं उनके पास आती हैं उनका समाधान किया जाता है। कोविड के उपकरण भी सभी सफाई कर्मियों को मुहैया कराए जा चुके हैं। बैठक में अन्य विभागों के अफसरों से भी चर्चा की। ड्राइविग लाइसेंस के लिए नहीं हों परेशान, 21 जून से बनेंगे लर्निंग

संवाद सहयोगी, हाथरस : ड्राइविग लाइसेंस के लिए अब परेशान होने की जरूरत नहीं है। नए ड्राइविग लाइसेंस बनाने का कार्य भी 21 जून से शुरू हो जाएंगे। इसके पहले पंजीकरण करा चुके आवेदकों को फिर से आनलाइन स्लाट लेना पड़ेगा।

वैश्विक महामारी कोरोना के चलते परिवहन विभाग ने ड्राइविग लाइसेंस बनाने का कार्य बंद कर दिया था। यह निर्णय उच्चाधिकारियों के निर्देश पर कार्यालय में भीड़ रोकने के लिए लिया गया था। सभी तरह के नए व पुराने लाइसेंस बनने बंद हो गए थे। लाक डाउन में छूट मिलते ही परिवहन विभाग का कार्य भी गति पकड़ने लगा। इसमें एक जून को लाइसेंस बनाने की शुरुआत परमानेंट लाइसेंस के साथ की गई थी। परमानेंट लाइसेंस के लिए सिर्फ 36 लाइसेंस प्रतिदिन का स्लाट निर्धारित था। अब नए लाइसेंस बनवाने वालों को राहत देते हुए लर्निंग लाइसेंस का कार्य भी 21 जून से शुरू हो रहा है। एआरटीओ प्रशासन नीतू सिंह ने बताया कि पहले पंजीकरण करा चुके आवेदकों को फिर से आनलाइन स्लाट लेना पड़ेगा।

Edited By: Jagran