संसू, हाथरस : टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय हाकी टीम के सहायक कोच पीयूष दुबे ने कहा कि बदली मानसिकता के साथ हाकी टीम ने खेल दिखाया तो ओलिंपिक में मेडल मिला। अब उनकी टीम का टारगेट है कि अगले ओलिंपिक में मेडल का रंग बदले। गांव, ब्लाक व जनपद में अच्छे स्टेडियम के लिए मुख्यमंत्री से मिलकर बातचीत करेंगे और कोशिश करेंगे कि बच्चे गांव से मेहनत करके राष्ट्रीय स्तर पर नाम रोशन करें।

भारतीय हाकी टीम की सफलता के बाद सोमवार को अपने गांव रसमई पहुंचे पीयूष दुबे का जोरदार स्वागत हुआ। इस दौरान मीडिया से बातचीत में कहा कि हर खिलाड़ी मैदान पर मेहनत करता है लेकिन एक टीम ऐसी होती है जो पर्दे के पीछे रहकर उन्हें और ज्यादा बेहतर करने के लिए प्रेरित करती है। वे उसी टीम का हिस्सा हैं। खिलाड़ियों को टोक्यो रवाना होने से पहले बता दिया गया था कि इस बाद मेडल जीतने जा रहे हैं। टीम ने बदली मानसिकता के साथ खेल दिखाया और परिणाम सामने है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी जापान रवानगी से पहले कोच व खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया था। वे लगातार टीम के संपर्क में थे। पदक जीतने के बाद भोज के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि जब तक हाकी में मेडल नहीं आता, तब तक लगता ही नहीं कि देश ने मेडल जीता है।

हाकी और क्रिकेट के क्रेज को लेकर पूछे गए सवाल पर सहायक कोच ने कहा कि अब युवाओं की सोच बदलेगी। हाकी टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन कर युवाओं को नई प्रेरणा दी है। केंद्र और प्रदेश की सरकारें इसके लिए पुख्ता योजना पर काम कर रही हैं।

Edited By: Jagran