जागरण संवाददाता, हाथरस : ऑनलाइन मार्केट से खुदरा बाजार को हो रहे नुकसान का संदेश लोगों तक पहुंचाने में व्यापार संगठन काफी हद तक कामयाब रहे। साप्ताहिक बंदी व भारत बंद के आह्वान के कारण शहर के बाजार तो बंद रहे ही साथ में मुरसान, सहपऊ व सिकंदराराऊ में भी बाजार बंद रहे। सादाबाद में आंशिक बंदी रही। सासनी में भारत बंद बेअसर रहा।

सोशल मीडिया के माध्यम से व्यापारी वर्ग ऑनलाइन शॉपिग का विरोध करता आ रहा है। सड़क तक विरोध पहली बार पहुंचा है। अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के बैनर तले शहर के व्यापारियों ने आंदोलन किया। दुकानें बंद कर ई-शॉपिग को बढ़ावा देती नीतियों के विरोध में नारेबाजी की। शहर में सभी प्रमुख बाजार बंद रहे। कुछ कनफैक्शनरी शॉप व मेडिकल की दुकानें खुलीं, जिससे लोगों को दिक्कत न हो। शहर के बाहरी क्षेत्र में दुकानें खुली नजर आईं। बाजार पूरी तरह बंद होने के कारण रविवार बाजार में भीड़ देखने को मिली। इस दौरान शहर में व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने भ्रमण किया। संगठन के जिलाध्यक्ष अशोक बागला, पदम अग्रवाल, मुरारीलाल शर्मा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया। यहां योगा पंडित, कपिल अग्रवाल, अमन अग्रवाल, सौरभ शर्मा, महेश अग्रवाल, ललित शर्मा, संजय शर्मा आदि व्यापारी मौजूद रहे। सादाबाद में आंशिक असर

युवा उद्योग व्यापार मंडल के तत्वावधान में ऑनलाइन बिक्री के विरोध में सादाबाद कस्बे के बाजार बंद कराए गए। व्यापारियों ने ई-शॉपिग के विरोध में चौक बाजार में प्रदर्शन भी किया। यहां बंदी का आंशिक असर रहा। प्रमुख बाजार बंद रहे। हाईवे के सहारे की दुकानें खुली रहीं। व्यापारी नेता दिनेश वाष्र्णेय के नेतृत्व में प्रदर्शन हुआ। यहां नगर अध्यक्ष रिकू अग्रवाल, नीटू सिसोदिया, सारांश गर्ग, मोहित गर्ग, लकी गुप्ता, राजकुमार अग्रवाल आदि व्यापारी मौजूद रहे। सहपऊ में बाजार बंद कर प्रदर्शन

सहपऊ में गांव मानिकपुर (जलेसर रोड) पर ऑनलाइन खरीदारी के विरोध में नगर युवा व्यापार मंडल अध्यक्ष रामकुमार गुप्ता उर्फ छकौड़ी सेठ के नेतृत्व में बाजार बंद कर विरोध प्रदर्शन किया गया। व्यापारियों ने कहा कि विदेशी कंपनियां देश का पैसा लूटकर ले जा रही हैं। देश इसी वजह से आर्थिक मंदी का सामना कर रहा है। विरोध में हरीश सेठ, लव वाष्र्णेय, शालू वाष्र्णेय, देवीलाल, प्रमोद कुमार, राजीव, मयंक, गौरव व मुकेश ठाकुर आदि मौजूद थे। नहीं दिखा बाजार बंदी का असर

सासनी : अखिल भारतीय युवा उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय नेतृत्व के आह्वान के बाद भी सासनी में भारत बंद का असर फीका साबित हुआ। कस्बे के बाजार खुले नजर आए। शनिवार को संगठन के लोगों ने बैठक कर बंद को लेकर रणनीति बनाई थी, लेकिन इसका असर नजर नहीं आया। सिकंदराराऊ में एसडीएम को ज्ञापन

सिकंदराराऊ : अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप बंसल के आह्वान पर ऑनलाइन कंपनियों के खिलाफ व्यापारियों ने प्रतिष्ठान बंद रखकर विरोध प्रदर्शन व नारेबाजी की। तिराहा बाजार पर प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी विजय शर्मा को सौंपा।

ज्ञापन में कहा है कि देश के लगभग 20 करोड़ छोटे बड़े खुदरा व्यापारी और उद्यमी हैं, जिनसे जुड़े परिजनों की संख्या लगभग 60 करोड़ के आसपास होती है। बहुराष्ट्रीय कंपनियों का खुदरा व्यापार उनका धंधा प्रभावित कर रहा है। बिक्त्री घट गई है। सरकार का राजस्व निरन्तर कम होता जा रहा है। सरकार को ध्यान देना चाहिए। इन कम्पनियों पर नियामक आयोग गठित किया जाए एवं ऐसी नीति तैयार की जाए कि ये कम्पनिया देश के खुदरा से कम कीमत पर बाजार में माल न भेज सकें। तभी खुदरा व्यापारी को बचाया जा सकता हैं। अध्यक्ष संजीव महाजन, नवेद खान, महामंत्री जितेंद्र वाष्र्णेय, युवा अध्यक्ष विशाल वाष्र्णेय, महामंत्री रितिक गुप्ता, मनोज पंडित ने व्यापारियों का बाजार बंदी में सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस