मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, हाथरस : चुनावी माहौल अब सियासी दलों के साथ आम लोगों के बीच भी गरम होता जा रहा है। चुनावी बहस में कहासुनी आम बात हो गई है मगर शुक्रवार को सोखना में चुनाव पर चर्चा के दौरान दो पक्ष आमने-सामने आ गए। मामला थाने तक पहुंच गया। पहले पुलिस ने मोर्चा संभाला फिर भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने दोनों पक्षों में समझौता कराया।

सोखना में शुक्रवार सुबह दो गुट चुनावी चर्चा में मशगूल थे। दोनों ही गुट अपने-अपने उम्मीदवारों के जीतने के दावे और गणित बता रहे थे। कुछ देर बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। जब सियासी दलों के नेताओं पर बदजुबानी होने लगी तो दोनों पक्षों के बीच गाली-गलौज शुरू हो गई। बात लोकसभा के निर्वाचन से प्रधानी चुनाव की रंजिश तक पहुंच गई। मौके पर गांव के लोग इकट्ठा हो गए। बीच-बचाव की कोशिश करने लगे। बड़े बुजुर्गों के कहने पर दोनों पक्ष एक-दूसरे को देख लेने की धमकी देते हुए मौके से चले गए। इसके बाद एक पक्ष के कई लोग दूसरे पक्ष के एक शख्स के घर पर जमा होने लगे। इसपर दूसरे पक्ष ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस दोनों पक्षों से कुछ लोगों को थाने ले आई। गांव में तनाव के चलते पुलिस ने नजर रखनी शुरू कर दी। कोतवाली में भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी पहुंच गए। दोनों पक्षों के बीच समझौते की कोशिशें शुरू हो गईं। पुलिस आरोपितों पर कार्रवाई करती, इससे पहले ही दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया। कोतवाल जितेंद्र कुमार दीखित का कहना है कि मामूली झगड़ा था। ऐसे झगड़े होते रहते हैं। आगरा रोड पर भी गाली-गलौज

चुनावी चर्चा के दौरान आगरा रोड तिराहे पर भी दो पक्षों के बीच जमकर गाली-गलौज हुई। मामले के तूल पकड़ने से पहले ही मौजूद लोगों ने बीच-बचाव कराकर दोनों पक्षों को अलग कर दिया। तिराहे पर एक दुकान पर बैठकर लोग चुनावी चकल्लस में मशगूल थे। दोनों पक्षों की सरकार को लेकर राय जुदा थी। इसी बीच बहस ने विवाद का रूप ले लिया और हंगामा शुरू हो गया। लोगों के बीच-बचाव कराने पर मामला शांत हो गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप