संवाद सहयोगी, हाथरस : सेट फ्रांसिस इंटर कॉलेज में तैनात रहे एक कर्मचारी को निकाल देने के बाद वो कोर्ट चला गया था। अब एससी-एसटी आयोग ने सुनवाई के बाद कर्मचारी के बकाया वेतन दिलाने के निर्देश जिला विद्यालय निरीक्षक को दिए हैं।

सुनील कुमार निवासी नहराई का आरोप है कि वो तीन साल पहले अलीगढ़ रोड स्थित सेट फ्रांसिस इंटर कॉलेज में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर तैनात था। उससे धर्म परिवर्तन करने के लिए विद्यालय प्रशासन ने कहा। जब उसने मना कर दिया तो उसको कॉलेज से बाहर निकाल दिया। इस मामले में उसने एससी-एसटी आयोग सहित कई अन्य जगह शिकायत कॉलेंज प्रशासन की। सुनवाई होने के बाद एससी-एसटी आयोग ने जिला विद्यालय निरीक्षक सुनील कुमार को निर्देश जारी किए हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक की ओर से एक पत्र कॉलेज के प्रधानाचार्य के लिए लिखा है। इसमें कहा गया है कि 16 जुलाई को पीड़ित ने अवगत कराया कि उसके 32 माह का वेतन भुगतान होना शेष है। प्रधानाचार्य को दिए गए पत्र में कहा गया है कि यदि पीड़ित का वेतन या देयक कोई शेष है तो उसका भुगतान तत्काल करते हुए रिपोर्ट एक सप्ताह के अंदर कार्यालय में दी जाए। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि वो खुद कॉलेज जाकर अब पड़ताल करेंगे कि पीड़ित को वेतन या देयक मिले या नहीं। वहीं कॉलेज के प्रधानाचार्य फादर रॉर्बट वर्गिस का कहना है कि कर्मचारी की संविदा खत्म होने के बाद उसे हटाया गया था। शराब पीकर वो नौकरी करने के लिए आता था। धर्मातंरण का झूठा आरोप लगाया, जो बाद में गलत निकला। कर्मचारी का कोई भी वेतन व देयक कॉलेज पर शेष नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस