संवाद सहयोगी, हाथरस : डेंगू और बुखार के प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा लगातार गांवों में फागिग और कराई जा रही है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम हाथरस जंक्शन के गांव कैलोरा में फागिग करने के लिए गई थी। टीम के सदस्यों को ग्रामीणों ने बैठा लिया और अभद्र व्यवहार किया। पुलिस के पहुंचने पर टीम गांव से सकुशल निकल पाई। पुलिस अब तहरीर का इंतजार कर रही है।

हाथरस जंक्शन के गांव कैलोरा में तीन दिन पूर्व एक व्यक्ति की बुखार से मौत हो गई थी। सोमवार दोपहर को मलेरिया विभाग में तैनात अनंत कुमार अपने एक कर्मचारी को साथ लेकर गांव में फागिग करने के लिए गए थे। गांव में टीम को देखते हुए ग्रामीण आक्रोशित हो गए। वहां टीम को देखकर ग्रामीण भड़क गए और टीम का विरोध करना शुरू कर दिया। स्वास्थ्य कर्मियों से हाथापाई भी की गई। करीब एक घंटे तक टीम को ग्रामीणों को अपने पास बिठाये रखा। स्वास्थ्यकर्मियों ने पुलिस को फोन किया तो जंक्शन पुलिस मौके पर पहुंच गई। टीम को वहां से निकाल लिया। बता दें कि हाथरस जंक्शन क्षेत्र में लगातार बुखार से लोगों की मौत हो रही है। तमाम लोग बुखार से पीड़ित हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों को जागरूक रही है। लोगों को समझाया जा रहा है कि अपने घर के आसपास साफ सफाई रखें। सीएमओ के आदेश के बाद टीमें उन गांवों में जाकर छिड़काव कर रही हैं जहां बुखार का प्रकोप ज्यादा है। इनकी सुनो

गांव में किसी भी टीम को बंधक नहीं बनाया गया। बुखार के प्रकोप के कारण ग्रामीणों में नाराजगी है। बंधक बनाने जैसी कोई बात नहीं है। यदि तहरीर आती है जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

राजीव यादव, इंस्पेक्टर कोतवाली जंक्शन

गांव कैलोरा में टीम के साथ अभद्रता हुई है। टीम गांव में फागिग करने के लिए गयी थी। कुछ देर तक टीम को ग्रामीणों ने बिठाये रखा था। अभी थाने में कोई तहरीर नहीं दी है।

डा. चंद्रमोहन चतुर्वेदी, सीएमओ, हाथरस।

Edited By: Jagran