जासं, हाथरस : रालोद की न्याय यात्रा लेकर आए प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को बूलगढ़ी में मृतका के स्वजन से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल में आईं रालोद मेरठ क्षेत्र की महासचिव संगीता सिंह ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बेटी को अभी तक न्याय नहीं मिला है। मुझे लगता है इस क्षेत्र में वही फूलन देवी वाला हिसाब बनेगा। परिवार सुरक्षित नहीं है। घर से नहीं निकल पा रहे हैं, कब तक परिवार सुरक्षा में रहेगा। सरकार ने जो वादा किया है उसे पूरे कर दे। परिवार में एक सदस्य को नौकरी मिल जाए। एक छोटी बेटी है, डर की वजह से वह पढ़ने नहीं जा पा रही है।

उनके साथ आए रालोद एससी-एसटी प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रशांत कन्नौजिया ने बातचीत के बाद कहा कि सरकार ने जो वादे किए थे वे पूरे करने चाहिए थे। सरकारी नौकरी का वादा पूरा नहीं किया है। परिवार स्वतंत्र जीवन नहीं जी पा रहा है। बच्चों का भविष्य अंधकार में है। बूलगढ़ी प्रकरण में दो तरह के लोग हैं। इसमें एक दुष्कर्म पीड़िता के साथ हैं और दूसरे दुष्कर्म के आरोपितों के साथ है। जो साथ दे रहे हैं उनके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। इनके साथ रालोद के ब्रज प्रांत अध्यक्ष जगपाल सिंह, पूर्व विधायक प्रताप चौधरी, जिलाध्यक्ष केशव चौधरी, वरिष्ठ नेता गिरेंद्र चौधरी आए थे, लेकिन फोर्स ने सिर्फ प्रशांत कन्नौजिया और संगीता सिंह को मृतका के स्वजन से मिलने की अनुमति दी। शेष लोगों को बाहर ही इंतजार करना पड़ा। रालोद की न्याय यात्रा के तहत प्रतिनिधिमंडल गांव पहुंचा था। इसे देखते हुए गांव के प्रवेश द्वार पर फोर्स लगा दिया गया था।

न्याय यात्रा की बाल्मीकि बस्ती में होगी सभा: राष्ट्रीय लोकदल की न्याय यात्रा के तहत रविवार को दूसरे दिन राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन 11:30 बजे सादाबाद तहसील में अधिकारियों को दिया जाएगा। दोपहर 12:30 बजे मथुरा अड्डा स्थित बाल्मीकि बस्ती में न्याय यात्रा का स्वागत तथा सभा का आयोजन किया। जाएगा।

Edited By: Jagran