हाथरस, जेएनएन। उत्तर प्रदेश का हाथरस जिला फिर चर्चा में है। जिले के सासनी क्षेत्र के गांव नौजरपुर में सोमवार शाम बेटी से छेड़छाड़ की शिकायत करने वाले पिता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि आरोपित छेड़छाड़ का केस वापस लेने के लिए पीड़ित परिवार पर दबाव बना रहा था। मृतक की बेटी ने छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। इनमें से दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने वारदात में शामिल सभी आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाने के भी निर्देश दिए हैं। वारदात का मुख्य आरोपित गौरव शर्मा समाजवादी पार्टी का नेता बताया जा रहा है।

हाथरस के सासनी क्षेत्र के गांव नौजरपुर में सोमवार शाम ताबड़तोड़ फायरिंग कर खेत में आलू की खोदाई कर रहे 52 वर्षीय किसान अमरीश शर्मा की हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि खेत में कुछ मजदूर आलू की बिनाई में लगे थे, तभी आरोपित गौरव शर्मा, रोहिताश शर्मा, निखिल शर्मा व ललितेश शर्मा अपने दो अन्य साथियों के साथ खेत पर हथियारों से लैस होकर पहुंचे। यहां उन्होंने दो साल पहले अमरीश शर्मा के परिवार की एक लड़की की ओर से दर्ज कराए गए छेड़छाड़ के मुकदमे में समझौते के लिए धमकाते हुए फायरिंग कर दी। कई राउंड फायरिंग में अमरीश शर्मा गोली लगने से वहीं गिर पड़े। आरोपित कार से भाग गए। पुलिस की मदद से अमरीश को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। उन्हें कई गोली लगी है।

दिनदहाड़े हत्या की सूचना पर सीओ सिटी रुचि गुप्ता, इंस्पेक्टर गौरव सक्सेना ने मौके पर पहुंचे। मृतक की बेटी ने गौरव शर्मा मूल निवासी गांव सोंगरा, थाना जवां (अलीगढ़) समेत छह लोगों को नामजद करते हुए केस दर्ज कराया है। गौरव के पिता श्रावस्ती जिले में कृषि विभाग में कार्यरत हैं। गौरव परिवार के साथ वहीं रहता था। नौजरपुर में अपनी मौसी के यहां उसका आना-जाना था। गौरव के खिलाफ ही मृतक के परिवार की एक लड़की ने छेड़छाड़ का मुकदमा 16 जुलाई, 2018 को दर्ज कराया था, जिसमें गौरव जेल भी गया था। दोनों पक्षों में तभी से रंजिश चली आ रही थी।

आरोपित गौरव शर्मा मूलरूप से अलीगढ़ का निवासी : दो साल पुरानी रंजिश में पहले दोनों पक्षों की महिलाओं में कहासुनी हुई थी। इसके बाद ताबड़तोड़ फायरिंग से किसान अमरीश शर्मा को मौत के घाट उतार दिया गया। आरोपित गौरव शर्मा मूलरूप से गांव सोरखा, थाना जवां, अलीगढ़ का रहने वाला है। वर्तमान में श्रावस्ती में अपने परिवार के साथ रहता है। श्रावस्ती में उसके पिता मुनेश कुमार शर्मा कृषि विभाग में कार्यरत हैं। सासनी के गांव नौजरपुर में उसकी मौसी रहती हैं। इसी लिए गौरव का यहां आना-जाना लगा रहता था।

सुबह हुई कहासुनी, शाम को ले ली जान : बताया जा रहा है कि ढाई साल पहले मृतक के परिवार की एक युवती से आरोपित गौरव की शादी तय हुई थी। बाद में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इस मामले में युवती की ओर से छेड़छाड़ समेत अन्य धाराओं में गौरव शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसको लेकर वह 15 दिन के लिए जेल गया था। जमानत पर जेल से बाहर आया था। सोमवार को युवक अपनी मौसी के घर पत्नी को लेकर आया था। सुबह आरोपित की मौसी व पत्नी मंदिर गई हुई थी। वहीं अमरीश के परिवार की युवती भी आई थी। वहां दोनों पक्षों की महिलाओं में कहासुनी हो गई थी। शाम तक घटना ने बड़ा रूप ले लिया। मृतक की बेटी के अनुसार गौरव ने अपने साथियों के साथ उसके पिता पर गोलियां बरसाकर मौत के घाट उतार दिया।

पुलिस ने दिखाई होती सजगता तो न होती वारदात : गांव में दिनदहाड़े किसान की रंजिशन हत्या हो जाने से कोहराम मचा हुआ है। मृतक के स्वजन का आरोप है कि सुबह झगड़ा हो जाने के बाद आरोपित ने देख लेने की धमकी दी थी। धमकी दिए जाने के बाद अमरीश ने कई बार इलाका पुलिस को अवगत कराया, लेकिन पुलिस ने गंभीरता नहीं दिखाई और टालमटोल रवैया अपनाते हुए 112 नंबर पर कॉल करने की बात स्वजन से कही। हत्याकांड के बाद मृतक की पत्नी पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रही थी।

घटनास्थल पर मिले आधा दर्जन कारतूसों के खोखे : घटनास्थल पर पुलिस की जांच पड़ताल में स्पष्ट हो गया है कि आरोपितों ने कई राउंड फायरिंग की थी। घटनास्थल से आधा दर्जन खाली कारतूस के खोखे मिले हैं, जिनमें तीन खोखे 315 बोर व दो पिस्टल के कारतूस शामिल हैं, जिन्हें पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है।

यह भी पढ़ें : हाथरस हत्याकांड का मुख्य आरोपित गौरव शर्मा बताया जा रहा सपा नेता, दिग्गज के साथ फोटो हो रही वायरल

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021