संसू, हाथरस : सादाबाद में विद्युत विभाग की मनमर्जी से नलकूपों के लिए इन दिनों मात्र छह घंटे आपूर्ति मिल रही है, जो रबी की फसलों की सिचाई के लिए नाकाफी है। जबकि शासन से 16 घंटे आपूर्ति के आदेश हैं। बिना बिजली गेहूं की फसल में सिचाई के लिए पानी न मिलने पर सूखने के कगार पर है। 10 घंटे की कटौती को लेकर किसानों में गुस्सा है।

कुरसंडा ग्राम पंचायत के कुछ मजरों को विद्युत विभाग द्वारा काफी समय पूर्व गीगला बिजलीघर से जोड़ दिया गया है, जिससे भदूरी, नगला पदम, नगला बलवंत, मोतीगढ़ी, थलूगढ़ी, नगला काठ, नगला ध्यान की विद्युत लाइन घरेलू व नलकूप की अलग-अलग कर दी गई हैं। नलकूप की विद्युत सप्लाई कम मिलने से किसानों के सामने सिचाई की समस्या उत्पन्न हो गई है। सुबह नौ से शाम पांच बजे तक सप्लाई दी जा रही है। इसके बीच दो घंटे शट डाउन के नाम पर रोज कटौती की जा रही है। इस प्रकार किसान को मात्र छह घंटे विद्युत सप्लाई मिल पा रही है। इस लाइन पर लगभग 100 नलकूप हैं। हजारों बीघा गेहूं की फसल सिचाई के इंतजार में खड़ी है। किसानों को कम से कम 12 घंटे दिन में लगातार बिजली की दरकार है। रात में टू फेस सप्लाई की आवश्यकता है।

पब्लिक बोल

लगातार हो रही विद्युत कटौती के कारण गेहूं की फसल में पानी नहीं दे पा रहे हैं। फसल सूखती जा रही है। समय रहते पानी नहीं मिला तो निश्चित रूप से फसल सूख जाएगी।

- रामवीर सिंह, कुरसंडा विद्युत विभाग किसानों का उत्पीड़न कर रहा है। जल्द बिजली कटौती बंद न हुई तो किसानों के सामने समस्या पैदा हो जाएगी।

- उदयवीर सिंह, नगला काठ बिजली विभाग ने घरेलू व नलकूप की लाइन अलग करने से काफी दिक्कत हो रही है। मात्र छह घंटे विद्युत आपूर्ति मिलने से फसल की सिचाई नहीं हो सकती।

- दाताराम, मोतीगढ़ी जब सरकार को किसानों की सुध नहीं तो फिर विद्युत विभाग से किसान क्या अपेक्षा कर सकते हैं। हर तरह से किसान परेशान है। फिर भी लोग अन्नदाता से ही अपेक्षा रखते हैं।

- राधेलाल, भदूरी करीब 100 नलकूप कुरसंडा क्षेत्र में हैं। किसी भी फीडर पर 6 घंटे से ज्यादा लाइट नहीं मिल पा रही। जिसका खामियाजा किसान को उठाने को मजबूर होना पड़ रहा है।

- महाराज सिंह, नगला काठ सिस्टम की सुनो

क्षेत्र में बिजली कटौती के बारे में जानकारी नहीं है। शेड्यूल देखकर उसके मुताबिक ही नलकूप स्वामियों को आपूर्ति दिलवाएंगे।

- सुमित गोयल, उपखंड अधिकारी द्वितीय

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस