संवाद सहयोगी, हाथरस : शनिवार से यूपी बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य तीन केंद्रों पर शुरू हो जाएगा। इसके लिए लगातार बोर्ड से निर्देश आ रहे हैं। समय से मूल्यांकन पूरा हो सके, इसके लिए तेजी से उत्तर पुस्तिकाएं जांचनी होंगी।

छह फरवरी से जिले के 98 परीक्षा केंद्रों पर यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा शुरूहुई थी। समय से परीक्षा कराने के साथ-साथ परिणाम भी समय से घोषित कराना बड़ी चुनौती है। इसलिए 17 मार्च से उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य शुरू हो रहा है। इस बार तीन विद्यालय अक्रूर इंटर कॉलेज, बागला इंटर कॉलेज और रामबाग इंटर कॉलेज को मूल्यांकन केंद्र बनाया गया है। तीनों केंद्रों पर कुल 137 डिप्टी हेड,1357 परीक्षक लगाए गए हैं जो इस बार 6.29 लाख उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन करेंगे। सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में मूल्यांकन कार्य होगा। परिणाम समय से आ सके, इसको लेकर भी अधिकारी गंभीर हैं। पंद्रह दिन के अंदर मूल्यांकन कार्य तीनों केंद्रों के प्रभारियों को समाप्त कराना होगा। मूल्यांकन कार्य शुरू होने से पहले एक दिन डिप्टी हेड अपनी मौजूदगी में परीक्षकों को प्रशिक्षण देंगे। सोलह मार्च को परीक्षक अपना एक फोटो और शैक्षिक प्रमाण पत्रों की प्रतियों को अपने प्रधानाचार्यों से सत्यापित कराकर अपने केंद्र पर लेकर आएंगे। वहीं पर परिचय पत्र केंद्र प्रभारियों के द्वारा परीक्षकों के बनाएं जाएंगे। रामबाग इंटर कॉलेज के मूल्यांकन केंद्र प्रभारी डॉ. दिलीप कुमार आमौरिया ने बताया कि प्रतिदिन 45 उत्तर पुस्तिका हर परीक्षक को जांचनी होगी, जिससे कि समय से मूल्यांकन कार्य पूरा कराया जा सके।

Posted By: Jagran