संवाद सहयोगी, हाथरस : शहर में सोमवार को विद्युत आपूर्ति ने खूब छकाया। करीब 12 घंटे तक विद्युत आपूर्ति ठप रहने से लोगों को पानी के लिए भी तरसना पड़ा। यह समस्या फाल्ट होने से आई। देहात क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति को सुचारु बनाने में विद्युत कर्मी लगे हुए थे।

शहर में कई जगह फाल्ट के चलते बिजली गुल रही। बारिश के चलते लाइन टूट जाने से भी विद्युत आपूर्ति ठप रही। शहर में सोमवार की सुबह करीब चार बजे अचानक बिजली चली गई। उसके बाद सुबह 11 बजे तक बिजली के दर्शन नहीं हुए। कुछ देर आने के बाद बत्ती फिर गुल हो गई। शाम तक बिजली न होने के कारण लोग पानी के लिए भी तरस गए। सही होने के बाद भी बिजली की समस्या पूरी तरह से दूर नहीं हुई। बिजली आती-जाती रही।

पानी के लिए तरसे लोग

हसायन क्षेत्र में भारी बारिश के चलते दो दिन से विद्युत व्यवस्था ध्वस्त है। जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। घरों में इनवर्टर भी ठप हो गए। पानी तक के लिए लोग तरस गए हैं। घर में रोशनी के लिए वैकल्पिक साधनों का प्रयोग करना पड़ रहा है। रुक-रुक कर हो रही बारिश के कारण विद्युत कर्मी लाइनों को ठीक नहीं कर पा रहे हैं। ब्रेक डाउन होने से ध्वस्त

रही 50 गांवों की बिजली

बिसावर : क्षेत्र में ब्रेक डाउन होने से विद्युत आपूर्ति आठ घंटे ठप रही। कस्बे के विद्युत उपकेंद्र से जुड़े बिसावर फीडर, आरएल बिसावर, ताजपुर, बरौली सहित कई फीडरों से जुड़े करीब 50 गांवों की विद्युत व्यवस्था ध्वस्त रही। इसके चलते चांदी एवं गिलेट उद्योग भी बंद रहा। लोगों को इससे काफी दिक्कतें झेलनी पड़ीं। एसडीओ सुमित गोयल ने बताया कि बिसावर फीडर ब्रेकडाउन में है। बारिश थमते ही कार्य शुरू करा दिया जाएगा।

पुरदिलनगर : लाइन में फाल्ट के चलते बिजलीघर नगला वीरसहाय व पुरदिल नगर की विद्युत आपूर्ति दो दिन से बंद होने से पूरा क्षेत्र अंधकार में डूबा हुआ है। मोबाइल भी चार्ज नहीं हो पा रहे हैं। जरेरा चौराहे पर साइकिल मिस्त्री की दुकान का छप्पर भी बरसात के कारण टूटकर गिर गया।

Edited By: Jagran