संसू, सासनी: जनपद की संगठित ग्राम पंचायतों के नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों की एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन एबीजी हास्पिटल सासनी में जिलाधिकारी रमेश रंजन की अध्यक्षता में हुआ। डीएम ने प्रधानों से संवाद करने के साथ निगरानी समितियों से ग्राम स्तर पर रोजाना सक्रिय रूप से कार्य करने को कहा।

परियोजना निदेशक अश्वनी कुमार मिश्र ने सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कार्य योजनाओं के बारे में जानकारी दी और नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों को समझाया।

मुख्य विकास अधिकारी ने ग्राम प्रधानों को उनके कर्तव्यों एवं दायित्वों के जानकारी देते कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य करना है। उन्होंने ग्राम प्रधान के विशेषाधिकार, पंचायत पर नियंत्रण, ग्राम पंचायत के कार्य, वित्तीय एंव प्रशानिक स्वीकृति, पुरस्कार आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

जिलाधिकारी रमेश रंजन ने कहा कि कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित किये जाने के लिए आवश्यक है कि ग्राम पंचायत की निगरानी समिति ग्राम स्तर पर सक्रिय रूप से प्रतिदिन कार्य करें। आगे कहा कि संदिग्ध, लक्षणयुक्त मरीजों को तत्काल मेडिसिन किट वितरित की जाए। अन्य जनपदों से आने वाले प्रवासी मजदूरों को मनरेगा के अंतर्गत जॉब कार्ड बनवाते हुए उन्हें रोजगार दिया जाए। ग्राम पंचायत में साफ-सफाई नियमित रूप से की जाए यदि किसी ग्राम पंचायत में सफाई कर्मियों द्वारा लापरवाही बरती जा रही है तो उसकी सूचना विकास खंड एवं जिला स्तर पर जरूर दी जाए।

उन्होंने सरकार की विशेष प्राथमिकता वाले कार्यक्रम जैसे- तालाबों का सुंदरीकरण एवं ग्राम पंचायतों में सभी नालियों का जुड़ाव किसी न किसी तालाब से हो तथा बिना अवरोध के नालियों का पानी तालाब तक पहुंच जाए। जिलाधिकारी ने प्रधानों से अभी से कार्य योजना बनाकर वर्षा ऋतु में अधिक से अधिक वृक्षारोपण कराएं। जिन ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन नहीं है, वहां पर पंचायत भवन के लिये कार्य योजना बनाई जाए।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी आरबी भास्कर, उप जिलाधिकारी सासनी विजय शर्मा, जिला पंचायत राज अधिकारी बनवारी सिंह, सभी खंड विकास अधिकारी, एडीओ पंचायत, डीसी मनरेगा एवं ग्राम प्रधान उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran