संस, हाथरस : डेंगू के लगातार बढ़ रहे मरीजों को देखते हुए स्वास्थ्य महकमे में खलबली मची हुई है। मंगलवार दोपहर एडी हेल्थ ने हाथरस आकर डेंगू मरीजों के क्षेत्र में जाकर हालात का जायजा लिया। हतीसा के पास एक अस्पताल में बिना सूचना के डेंगू मरीज का इलाज किए जाने पर नाराजगी व्यक्त की। महिला अस्पताल में डेंगू वार्ड में जाकर जानकारी हासिल की।

जिले में बढ़ रहे डेंगू के मामलों को लेकर स्वास्थ्य विभाग काफी अलर्ट है। मंगलवार दोपहर को हतीसा के एक डेंगू रोगी का हाल जानने अपर स्वास्थ्य निदेशक डा. एसके उपाध्याय, सीएमओ डा. चंद्रमोहन चतुर्वेदी के साथ उनके घर पहुंचे। अधिकारियों को घर पर मरीज नहीं मिला। स्वजन ने बताया कि एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। एडी हेल्थ व सीएमओ कृष्णा हेल्थ केयर हास्पिटल पहुंचे, जहां डेंगू के मरीज का उपचार हो रहा था। अस्पताल प्रशासन ने डेंगू रोगी के बारे में स्वास्थ्य विभाग को सूचना तक नहीं दी थी जिसे लेकर दोनों अधिकारियों ने नाराजगी जताई। अस्पताल में भर्ती मरीजों को क्या उपचार दिया जा रहा है, इस बारे में अस्पताल प्रशासन की ओर से कोई जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई। सीएमओ के अनुसार टीम के पहुंचने पर ही यहां डा. सुमित कपूर आए थे, जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि अस्पताल में नर्स और स्टाफ द्वारा ही रोगियों को उपचार दिया जा रहा था। इस मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसी के अनुरूप कार्रवाई की जाएगी। इधर एसीएमओ व एमओआइसी मुरसान ने हतीसा स्थित श्रीकृष्णा क्लीनिक का निरीक्षण किया। यहां रोगियों का उपचार बिना किसी लाइसेंस के किया जा रहा था। अस्पताल के डा. वीके यादव से टीम ने पूछताछ की और नोटिस लेकर स्पष्टीकरण मांगा है।

Edited By: Jagran