संवाद सहयोगी, हाथरस : प्रसव के दौरान हालत बिगड़ने पर महिला की मौत हो गई। बच्ची भी मृत पैदा हुई थी। मायके वालों ने ससुरालियों पर गर्भ में दूसरी बेटी होने पर मारपीट करने का आरोप लगाया है और मौत के लिए इसी को वजह बताया है। उनका कहना है कि मारपीट से ही उसकी हालत बिगड़ी। महिला के भाई ने मुरसान कोतवाली में तहरीर दे दी है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

बनी ¨सह निवासी अय्यापुर कलां, हाथरस ने यह शिकायत की है। बनी ¨सह के अनुसार उनकी बहन संतोषी की शादी 29 नवंबर 2014 को जसवंत उर्फ गुड्डू निवासी खजूरिया, मुरसान से हुई थी। आरोप है कि शादी के कुछ दिन बाद से ही ससुरालियों ने अतिरिक्त दहेज की मांग शुरू कर दी थी। वे ऑल्टो कार मांग रहे थे। मांग पूरी न होने पर संतोषी को परेशान करना शुरू कर दिया। संतोषी को पहली बेटी हुई। आरोप है कि बेटी पैदा होने के बाद से ससुरालियों ने और प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। संतोषी दोबारा गर्भवती हुई। आखिरी समय में ससुरालियों को यह पता चल गया कि गर्भ में लड़की है। बनी ¨सह का आरोप है कि 15 अप्रैल की सुबह इस बात पर संतोषी के साथ मारपीट की गई। मारपीट के कारण महिला की हालत बिगड़ गई। उसे ससुराली सरकारी अस्पताल ले गए। बनी ¨सह को जब यह बात पता चली तो वे भी परिवार के साथ अस्पताल पहुंचे। वे ही संतोषी को प्राइवेट अस्पताल ले गए, जहां महिला का ऑपरेशन किया गया। बच्ची मृत अवस्था में पैदा हुई। यही नहीं संतोषी की हालत भी नाजुक थी। उसे आगरा रेफर किया गया। वहां उपचार के दौरान महिला की मौत हो गई। बनी ¨सह का कहना है कि बहन की मौत से वे लोग सदमे में थे। इधर, आरोपितों ने उन्हें झांसे में लेकर शव का बिना पोस्टमार्टम कराए अंतिम संस्कार कर दिया। बाद में पूरा मामला समझ में आने पर मंगलवार को मायके वाले मुरसान कोतवाली पहुंचे तथा ससुरालियों के खिलाफ तहरीर दी। एसएचओ नरेंद्रपाल ¨सह का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है।

Posted By: Jagran