संवाद सूत्र, हाथरस : सिकंदराराऊ के गांव बारमऊ निवासी धर्मवीर राणा, उनकी पत्नी और बेटे की बुधवार को एक्सप्रेस-वे पर हादसे में मौत हो गई। पूरा परिवार गुरुग्राम में रहता था। धर्मवीर फीरोजाबाद स्थित ससुराल जा रहे थे। गुरुवार को तीनों के शव गावं लाए गए तो कोहराम मच गया। सुबह तीनों का अंतिम संस्कार किया गया।

गांव बारमऊ निवासी धर्मवीर राणा (55) पुत्र दौजीराम अपने परिवार के साथ राजीवनगर (गुरुग्राम) में रहते थे। वहां एक डेयरी पर मैनेजर थे। बुधवार को धर्मवीर पत्नी ऊषा राणा (50) एवं पुत्र अविनाश राणा (23) के साथ अल्टो कार से यमुना एक्सप्रेस-वे होते हुए ससुराल फीरोजाबाद जा रहे थे। थाना महावन क्षेत्र में यमुना एक्सप्रेस-वे पर माइलस्टोन 114 के पास सुबह करीब नौ बजे उन्होंने अपनी कार सड़क के किनारे रोकी। उसी समय पीछे से आ रही कार ने जोरदार टक्कर मार दी, जिससे धर्मवीर राणा और उनकी पत्नी उषा राणा की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। अविनाश राणा को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया मगर उसने रास्ते में दम तोड़ दिया। हादसे की खबर गांव पहुंची तो स्वजन एवं ग्रामीण मथुरा पहुंचे। देर रात्रि पोस्टमार्टम के बाद तीनों शव गांव बारमऊ लाए गए। गमगीन माहौल में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। परिवार में तीन मौतों से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है।

एक महीने पहले आए थे गांव

गांव में धर्मवीर के दो छोटे भाई रहते हैं। एक माह पूर्व दंपती व उनका बेटा गांव आया था। परिवार के साथ रहकर उनका हालचाल लिया था। तीज त्योहार पर भी अक्सर वह घर आते थे। बड़े भाई, उनकी पत्नी व भतीजे की मौत हो जाने से पूरा परिवार बुरी तरह आहत है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस