हाथरस, जेएनएन। टोल प्लाजा पर सफर सुगम व निर्बाध बनाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने फास्टैग की सुविधा दी है। चार पहिया वाहनों को फास्टैग के इस्तेमाल से टोल पर बिना रुके गुजरने की सुविधा मिल रही है, मगर कार और अन्य छोटे वाहन स्वामियों की उदासीनता के चलते अब भी टोल प्लाजा पर वाहनों की लंबी कतारें लग रही हैं।

उदासीन चार पहिया वाहन स्वामी

ट्रक, बस आदि बड़े वाहनों में फास्टैग तेजी से लगवाए गए। कुछ टोल पर तो इस सुविधा को अनिवार्य कर दिया गया है। कार आदि छोटे वाहन स्वामी इसकी अनदेखी कर रहे हैं। इनमें कुछ वाहन स्वामी फास्टैग लेने के बाद उन्हें रिचार्ज ही नहीं करा रहे। इसके चलते टोल प्लाजा पर ऐसे वाहन जाम में फंस रहे हैं।

60 प्रतिशत छोटे वाहनों में फास्टैग नहीं

जनपद के बरौस स्थित टोल प्लाजा से प्रतिदिन दस हजार वाहन गुजरते हैं। इनमें से लगभघ 6500 छोटे वाहन होते हैं। इनमें से करीब 60 प्रतिशत वाहनों पर फास्टैग नहीं लगा होता है। इस तरह के वाहन ही टोल प्लाजा पर लंबी लाइन की वजह बन रहे हैं। इससे फास्टैग वाहन स्वामियों को भी असुविधा हो रही है।

रौस टोल प्लाजा पर मिल रही फास्टैग बनवाने की सुविधा

फास्टैग बनाने के लिए बरौस स्थित टोल प्लाजा की ओर से जगह-जगह शिविर लगाए जा रहे हैं। इसके अलावा बैंक व सीएससी सेंटर से भी फास्टैग बनवाने की सुविधा दी जा रही है। इसके बाद भी लोग इस सुविधा को लेकर उदासीन बने हुए हैं। शुल्क माफी की सुविधा राष्ट्रीय राजमार्ग पर बिना रुके टोल से गुजरने के लिए फास्टैग में डिजिटल सुविधा का लाभ दिया जा रहा है। इसमें 15 फरवरी से 29 फरवरी तक 15 दिनों तक फास्टैग के लिए वसूल की जाने वाली 100 रुपये की राशि को माफ करने का फैसला लिया गया है।

50 फीसद वाहनों पर ही लगा फास्टैग

ब्रजभूमि एक्सप्रेस-वे के परियोजना निदेशक, सूर्य प्रताप सिंह के अनुसार सरकार के प्रयासों के बाद भी करीब 50 प्रतिशत वाहनों पर ही फास्टैग लग पाया है। इनका कहना है बड़े वाहन के चालक तथा स्वामियों द्वारा फास्टैग का लाभ लिया जा रहा है, लेकिन छोटे चार पहिया वाहन चालक तथा उनके स्वामी फास्टैग में रुचि नहीं दिखा रहे। जिन लोगों ने फास्टैग बनवा रखे हैं, वे रिचार्ज नहीं करा रहे हैं। वाहन स्वामी वाहन की आरसी एवं अपनी एक फोटो आइडी देकर फास्टैग तुरंत प्राप्त कर सकते हैं और बिना रुके समय की बचत करते हुए टोल प्लाजा को पार कर सकते हैं। बिना फास्टैग वाहन को फास्टैग लाइन में ले जाने पर दो गुना फीस देने का प्रावधान है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस