संसू, हाथरस : सिकंदराराऊ विधानसभा क्षेत्र के गांव नगला कोठी के समीप काली नदी पर पुल निर्माण के लिए व जलेसर-कैलोरा मार्ग के चौड़ीकरण का काम अभी तक नहीं हुआ है। क्षेत्रीय विधायक वीरेंद्र सिंह राणा ने डीएम रमेश रंजन से मिलकर पत्र सौंपा और इन कामों को पूरा कराने के लिए सचिवालय के लिए रिमाइंडर भिजवाया।

राणा ने कहा है कि वह पूर्व में भी पत्र के माध्यम से अवगत करा चुके हैं कि ब्लॉक सिकंदराराऊ के ग्राम खिजरपुर व नगला कोठी के समीप बह रही काली नदी पर पुल का निर्माण न होने से वर्षा ऋतु में आसपास भयानक स्थिति उत्पन्न हो जाती है। आने-जाने के सभी रास्ते बंद हो जाते हैं। लोगों को बाजार आने-जाने के लिए काफी लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। यहां विधानसभा सिकंदराराऊ का बॉर्डर है। दूसरी तरफ अलीगढ़ जिले की छर्रा विधानसभा लग जाती है। छर्रा विधानसभा क्षेत्र का गांव घनसिंहपुर सीमा पर पड़ता है। कस्बा गंगीरी व छर्रा में कृषि मंडी एवं बाजार नजदीक होने के कारण विधानसभा सिकंदराराऊ के कास्तकारों व जनता को नदी के पुल के अभाव में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। नदी पर पुल का निर्माण होने से यहां के लोगों को सिकंदराराऊ की 20 किलो मीटर की दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी। 2017 के विधानसभा चुनाव के समय आसपास के ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार की ठान ली थी। भाजपा संगठन व विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने अथक प्रयास कर ग्रामीणों को समझाकर मतदान कराया। ग्रामीणों से वायदा किया गया था कि भाजपा की सरकार बनने के बाद पुल का निर्माण कराया जाएगा।

विधायक वीरेंद्र सिंह राणा ने एक और ज्वलंत समस्या उठाते हुए कहा कि विधानसभा सिकंदराराऊ क्षेत्र का अति महत्वपूर्ण मार्ग सासनी कैलोरा जलेसर मार्ग (कैलोरा बरवाना मार्ग) अन्य जिला मार्ग है, जो हाथरस व एटा जनपद को सीधा जोड़ता है, जिसमें सबसे पहला भाग सासनी कैलोरा मार्ग लगभग 11 किमी का भाग 5.5 मीटर चौड़ा है। द्वितीय भाग कैलोरा से जलेसर सीमा 16 किमी पड़ता है, जिसकी चौड़ाई 3.75 मी है तथा वर्तमान में अति क्षतिग्रस्त है। तृतीय भाग हाथरस जलेसर सीमा से जलेसर तक 6 किमी पड़ता है, जिसकी चौड़ाई 5.5 मी है। इस प्रकार इस अति महत्वपूर्ण मार्ग का 16 किलोमीटर भाग संकरा व अति क्षतिग्रस्त है। जिसके कारण इस मार्ग से सटे लगभग 50 गावों के लोगों में इसे लेकर रोष व्याप्त है। लोक निर्माण विभाग द्वारा अवगत कराया गया है कि इस भाग के चौड़ीकरण के लिए प्रस्ताव प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत भेजा गया, परंतु तय समय पर इस योजना में कार्य होना संभव नहीं लगता, इसलिए कैलोरा जलेसर मार्ग के चौड़ीकरण व सु²ढ़ीकरण के लिए लोक निर्माण विभाग को आदेश दिए जाएं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप